जमशेदपुर, जासं।  Cyber Crime  जमशेदपुर शहर का साइबर गिरोह महानगरों में साइबर अपराध को अंजाम देता था। इस बात का खुलासा पकड़े गए साइबर ठग ने किया है। पुलिस ने साइबर ठग गिरोह के सरगना योगेश कुमार शर्मा को उसके मानगो आदर्श कॉलोनी स्थित घर से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने योगेश को मुखबिर की सूचना पर गिरफ्तार किया है। 

पुलिस ने उससे पूछताछ के बाद जेल भेज दिया है। पूछताछ में योगेश ने पुलिस को बताया है कि वह राहुल केसरी और महेश पोद्दार के साथ मिलकर देश के अन्य राज्यों और महानगरों में साइबर ठगी की घटनाएं करता था। उसे बेरोजगार युवाओं को गिरोह से जोडऩे का काम मिला था। वह युवाओं को कॉल सेंटर में नौकरी दिलाने का झांसा देकर अपने गिरोह में शामिल करता था। युवकों को 8 से 10 हजार रुपये प्रति माह वेतन युवकों को मिलता था।

बैंक खाते होंगे फ्रीज

साइबर थाना प्रभारी उपेंद्र कुमार मंडल ने बताया कि योगेश के दो बैंक अकाउंट हैं। इसे फ्रीज करने के लिए रिपोर्ट भेज दी गई है। एक अकाउंट एसबीआइ साकची और एक सिंडिकेट बैंक सोनारी में है। वर्ष 2019 के जनवरी से नवंबर माह के बीच इसके बैंक खातों में लगभग तीन लाख रुपये के ट्रांजेक्शन होने की जानकारी मिली है। गौरतलब है कि गिरोह के सरगना महेश पोद्दार ने कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया था। फिलहाल गिरोह का तीसरा सरगना राहुल केसरी अब भी फरार है। पुलिस का दावा है कि राहुल केसरी को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। 

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस