जमशेदपुर, जासं। भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ माने जाने वाली भारतीय रेल हर दिन लाखों-करोड़ों लोगों को उनके गंतव्य तक पहुंचाती है। लेकिन जब ट्रेनों की लेटलतीफी होने से यात्रियों को काफी परेशानी होती है।

कई महत्वपूर्ण ट्रेनें लेट

चक्रधरपुर मंडल में टाटानगर रेलवे स्टेशन सबसे महत्वपूर्ण स्टेशनों में से एक है। यहां से हर दिन 25 से 30 यात्री ट्रेनों की आवाजाही होती है। शनिवार को यहां से गुजरने वाली छह ट्रेन अपने तय समय से विलंब से चल रही है। इनमें गीतांजलि, अहमदाबाद सुपरफास्ट से लेकर पैसेंजर व उत्कल एक्सप्रेस जैसी ट्रेनें है। ऐसे में यदि आपको आज यात्रा करनी है तो पहले ट्रेनों की स्थिति जान लें नहीं तो स्टेशन पहुंच कर आपको लंबा इंतजार करना पड़ सकता है। विलंब से चलने वाली पहली ट्रेन है छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनल से चलकर हावड़ा को जाने वाली 12859 गीतांजलि एक्सप्रेस अपने तय समय से दो घंटे 41 मिनट की देरी से चल रही है। अब यह ट्रेन सुबह आठ बजकर 15 मिनट के बजाए 10 बजकर 56 मिनट पर टाटानगर पहुंचने की संभावना है। वहीं, अहमदाबाद से चलकर हावड़ा को जाने वाली 12833 हावड़ा सुपरफास्ट एक्सप्रेस भी अपने तय समय से एक घंटे 57 मिनट की देरी से चल रही है। अब यह ट्रेन सुबह नौ बजकर 20 मिनट के बजाए 11 बजकर 17 मिनट पर टाटानगर पहुंचेगी। जबकि आसनसोल से चलकर टाटानगर को आने वाली 08173 आसनसोल टाटा मेमू नौ मिनट की देरी से चल रही है। अब यह ट्रेन दोपहर एक बजकर 30 मिनट के बजाए एक बजकर 39 मिनट पर टाटानगर आएगी। वहीं, कंटाबाजी से चलकर हावड़ा को जाने वाली 12872 हावड़ा इस्पात एक्सप्रेस भी सात मिनट की देरी से चलने की सूचना है। अब यह ट्रेन दोपहर एक बजकर 45 मिनट के बजाए एक बजकर 52 मिनट पर टाटानगर पहुंचेगी। इसके अलावा सिलघाट टाउन से चलकर ताम्बरम को जाने वाली 15630 नवागांव एक्सप्रेस भी 23 मिनट की देरी से चलने की सूचना है। अब यह ट्रेन दोपहर दो बजकर 50 मिनट के बजाए तीन बजकर 13 मिनट पर टाटानगर आएगी। इसके अलावा योग नगरी ऋषिकेश से चलकर पुरी को जाने वाली 18478 कलिंग उत्कल एक्सप्रेस भी 31 मिनट की देरी से चल रही है। अब यह ट्रेन शाम छह बजकर 10 मिनट के बजाए छह बजकर 41 मिनट पर टाटानगर आएगी।

Edited By: Madhukar Kumar