जमशेदपुर : टाटा समूह आधी आबादी पर शुरू से ही विशेष ध्यान देती है। महिला सशक्तीकरण को बढ़ावा देना इस समूह का लक्ष्य है। टाटा स्टील के वेस्ट बोकारो माइंस में महिलाएं काम करती है। इस क्षेत्र में पुरुषों का वर्चस्व रहा है। नोवामुंडी माइंस में एक शिफ्ट में सिर्फ महिलाएं ही काम करेंगी। स्थानीय युवतियों को इसका प्रशिक्षण दिया जा रहा है। टाटा स्टील 2030 तक अपने वर्कफोर्स 30 फीसद महिलाओं को मौका देगा।

मुंबई के सांताक्रूज में हो रहा होटल का निर्माण

इसी को आगे बढ़ाते हुए टाटा समूह की इंडियन होटल्स कंपनी ने नया कदम उठाया है। समूह का सांताक्रूज में बन रहे जिंजर होटल के कंस्ट्रक्शन का काम सिर्फ महिलाएं ही करेंगी। कंस्ट्रक्शन जैसे पारंपरिक पारंपरिक रूप से पुरुष-प्रधान उद्योगों में महिलाओं को बढ़ावा देना क्रांतिकारी कदम है।

इंडियन होटल्स के सीईओ व प्रबंध निदेशक पुनीत छतवाल ने कहा, आईएचसीएल में हम सभी के लिए समान अवसर प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। आज, दुनिया एक ऐसे भविष्य की ओर अग्रसर है जहां महिलाएं सभी क्षेत्रों में सीमाओं को तोड़ आगे बढ़ रही है। यह साझेदारी टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड के साथ इस विश्वास को दोहराता है। हमें पूरी तरह से महिला टीम पर गर्व है जो सभी नए जिंजर सांताक्रूज के निर्माण में मदद कर रही है।

19 महीने में तैयार होगा 371 कमरे वाला होटल

19,000 वर्ग मीटर से अधिक के कंस्ट्रक्शन एरिया वाले 371 कमरों वाले होटल का निर्माण 19 महीनों में किया जाएगा। निर्माण प्रक्रिया में नवीनतम निर्माण तकनीकों और प्रौद्योगिकियों को शामिल किया जाएगा। मुंबई हवाई अड्डे और वेस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे के करीब जिंजर होटल होगा और इसका निर्माण भारत की प्रमुख निर्माण कंपनियों में से एक - टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड द्वारा किया जा रहा है।

टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड के प्रबंध निदेशक ने कही यह बात

टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड के प्रबंध निदेशक विनायक देशपांडे ने कहा, "जिंजर होटल परियोजना एक सर्व-महिला टीम के नेतृत्व में अच्छी तरह से आगे बढ़ रही है। यह कंपनी की संस्कृति को दर्शाता है, जो महिलाओं को कार्यस्थल में विविध भूमिकाओं को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करती है। निर्माण और इंजीनियरिंग क्षेत्र में अधिक से अधिक महिलाओं को अपना करियर बनाने के लिए प्रेरित करने के लिए इस टीम की सफलता महत्वपूर्ण है। एक अन्य प्रमुख विशेषता यह है कि समय पर और गुणवत्तापूर्ण निर्माण सुनिश्चित करने के लिए बीआईएम और 3 डी जैसी नई तकनीकों को भी तैनात किया जा रहा है।

आईएचसीएल चेन्नई के लग्जरी रेसिडेंस में सिर्फ महिलाएं करती काम

हाल ही में आईएचसीएल चेन्नई के लग्जरी रेसिडेंस में सिर्फ महिलाओं को मौका दिया है। कंपनी ने कई अन्य इंडस्ट्री लीजिंग प्रैक्टिस को लागू किया है, जैसे मातृत्व अवकाश, अनिवार्य क्रेच सुविधाएं, आईवीएफ उपचार सहित मेडिकल की सुविधा भी प्रदान करती है। पटाटा प्रोजेक्ट्स की नीतियों ने महिला कर्मचारियों के लिए सभी स्तरों पर व्यवसाय के विभिन्न कार्यों में भाग लेने, अपने क्षेत्रों में अनुभव हासिल करने और अपने करियर की आकांक्षाओं को प्राप्त करने के लिए मंच तैयार किया है।

टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड के सीओओ राहुल शाह ने कहा, देबाश्री और उनकी सभी महिला टीम की प्रतिबद्धता और प्रभावशीलता सभी के लिए उल्लेखनीय और दृश्यमान है। साइट पर्यवेक्षकों, ठेकेदारों जैसे कई हितधारकों के उनके संचालन का एक विशेष उल्लेख किया जाना चाहिए।

Edited By: Jitendra Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट