ईचागढ़(जमशेदपुर) : Illegal mining In Jharkhand झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बालू उठाव करवाने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई की बात कही है। जिसके बाद चांडिल अनुमंंडल समेत जमशेदपुर आस पास इलाके अवैध बालू के खिलाफ खनन विभाग कार्रवाई कर रही है।

ईचागढ़ में पुलिस ने किया तीन ट्रैक्टरों को किया जब्त

रविवार सुबह अवैध बालू लदे तीन ट्रैक्टर को ईचागढ़ थाना प्रभारी दिनेश ठाकुर के नेतृत्व में पुलिस दल ने जब्त किया। बताया जा रहा है कि तीनों अवैध बालू लदा ट्रैक्टर जब्त कर आगे की कारवाई के लिए खनन विभाग व अंचलाधिकारी को सूचित किया है। अभी तक अवैध बालू कारोबारी के खिलाफ मामला दर्ज नहीं किया गया है ।

लगातार हो रही बालू की अवैध  ढुलाई

इन दिनों लगातार अवैध बालू के कारोबार पर करवाई हो रही है मगर अवैध बालू का कारोबार बंद होने का नाम ही नहीं ले रहा है। मालूम हो कि एक दिन पहले ही तिरुलडीह पुलिस ने करवाई करते हुए तीन बालू लदे ट्रैक्टर जब्त कर मामला दर्ज किया था । बालू के खिलाफ लगातार कार्रवाई होने के बावजूद भी कारोबार रूकने का नाम नहीं ले रहा है। बताया जा रहा है कि तीनों अवैध बालू लदा ट्रैक्टर तिरुलडीह थाना क्षेत्र के सापादा घाट से काड़कीडीह पुल होकर चौका की ओर जा रहा था । जहां पुलिस ने गश्ती के दौरान तीनों बालू लदे ट्रैक्टरों को जब्त किया। इतना ही नहीं तिरुलडीह- बामनडीह के बीच बने पुल पर भी बालू माफियाओं का नजर है जहां से रोज अवैध बालू उठता है। तिरूलडीह पुल के नीचे ही ट्रैक्टर से बालू का उठाव किया जाता है। पुल के नीचे बालू का उत्खनन होने से कभी भी पुल धंस सकता है ।

सुवर्णरेखा नदी से नहीं रूक रहा बालू का अवैध कारोबार

सुवर्णरेखा नदी से बालू उठाव को लेकर सरायकेला जिला चर्चा में है। यहां गौर करने वाली बात यह है कि लगातार कारवाई के बाद भी अवैध बालू का कारोबार लगातार जारी है। बालू माफिआओं द्वारा ट्रैक्टर से बालू का उठाव कर चौका आदि जगहों में ऊंचे दामों पर बेचा जाता है । लगातार धर पकड़ के बावजूद बालू पर रोक लगाने में प्रशासन नाकाम है । अब देखना है कि मुख्यमंत्री के आदेश के बाद भी अवैध बालू की ढुलाई कितना रोक पाती है खनन विभाग। 

Edited By: Sanam Singh