जमशेदपुर, जासं। इंटरनेट और ई-मेल का इस्तेमाल करने वाले अधिकतर एकाउंट्स होल्डर्स के पास कई ऐसे मेल आते हैं, जिसमें उन्हें इनाम की बड़ी राशि, किसी बड़े क्लब की सदस्यता या लॉटरी लगने का लालच दिया जाता है। यदि कोई एकाउंट होल्डर इसके दिए लिंक को क्लिक करता है या उन्हें अपनी महत्वपूर्ण जानकारी साझा करता है तो हैकरों की टीम उनके सभी डाटा हैक कर लेते हैं। 

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मटेरियल मैनेजमेंट, जमशेदपुर शाखा द्वारा सेंटर फॉर एक्सिलेंस सभागार में साइबर हैकिंग पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन हुआ। इसे संबोधित करते हुए बीआईटी सिंदरी के छात्र सह हैकर एक्सपर्ट जयराज सिंह ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि आज का समय इंटरनेट और डाटा का है इसलिए डेस्क टॉप, लैपटॉप और मोबाइल पर जो भी इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं, उन्हें इस ओर सर्तकता बरतने की जरूरत है।
अपने सिस्‍टम में बाहरी लोगों को न लगाने दे सीडी 
उन्होंने बताया कि किसी भी यूजर अपने सिस्टम में बाहरी लोगों के पेन ड्राइव या सीडी नहीं लगाना चाहिए। इससे भी आपका सिस्टम आसानी से हैक हो सकता है। जयराज ने बताया कि साइबर स्पेस आज एक शक्ति का रूप ले चुका है जिसमें कोई भी हैकर अपने व्यक्तिगत डाटा का गलत इस्तेमाल कर सकता है। वहीं, संस्थान के सदस्य जीडी पांडेय ने वर्ष 2018 में आइटी विभाग द्वारा जारी फ्रेम वर्क डाक्यूमेंट के आधार पर जारी साइबर सुरक्षा की जानकारी दी। इस मौके पर संस्थान के अध्यक्ष शंभू शेखर, राणा दास सहित बड़ी संख्या में संस्थान के सदस्य उपस्थित थे। 

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस