जमशेदपुर (जेएनएन)। सिमरन ने अपनी गणित की कॉपी में लिखा - आई एम सॉरी ममा। उसकी इस लिखावट को उसके पिता ने तब देखा जब सिमरन की मौत की खबर आ चुकी थी। दसवीं की छात्रा सिमरन का शव सरोज उपाध्याय के शव के साथ जुगसलाई थाना क्षेत्र के टाटा पिगमेंट के पास एक पार्क में बुधवार की सुबह बरामद किया गया।

सिमरन के पिता राकेश कुमार ने मंगलवार रात 10 बजे उसे गणित पढ़ाया था। इसके बाद वह कमरे की ओर चली गई। इसके बाद पूरा परिवार सो गया। फिर न जाने कब वह घर से निकल गई। सुबह जब पिता  जागे तो मेन गेट खुला देखा। सोचा कि पुत्री टहलने गई होगी। कहीं से भी उनके दिमाग में ऐसा कुछ नहीं आया कि कुछ समय बाद ही उनकी पुत्री के नहीं रहने की खबर आएगी।

वे ट्रेन पकड़ अपनी रेलवे की ड़यूटी के लिए रवाना हो गए। मां सुबह साढ़े पांच बजे जागी, बेटी को नहीं देख उन्‍होंने भी यही सोचा कि बेटी टहलने गई होगी, लौट आएगी। सिमरन तो नहीं लौटी, उसकी लाश मिलने की सूचना मिली। इस दुखद सूचना के मिलते ही पिता भी लौट आए। घर में सूत्र तलाशने की कोशिश की गई। उन्‍होंने पुत्री की गणित की कॉपी में लिखा देखा- आई एम सॉरी ममा।

पोस्‍टमार्टम के बाद दोनों के परिजनों ने किया अंतिम संस्‍कार 

सरोज उपाध्‍याय व सिमरन के शवों का पोस्‍टमार्टम कराया गया। इसके बाद बुधवार को ही परिजनों ने दोनों शवों का अंतिम संस्‍कार कर दिया। बागबेड़ा निवासी सरोज उपाध्याय के बड़े भाई मुकेश उपाध्याय बतौर प्रशिक्षु दरोगा गोड्डा के सुंदरपहाड़ी थाना क्षेत्र में पदस्थापित है। भाई की मौत की जानकारी के बाद वे बुधवार शाम शहर पहुंचे। देर शाम पार्वती घाट पर गमगीन माहौल में अंतिम संस्कार कर दिया गया। वहीं पोस्‍टमार्टम के बाद सिमरन के शव को भी परिवारवाले बिष्‍टुपुर स्थित पार्वती घाट ले गए और अंतिम संस्‍कार कर दिया। शवों के मिलने के बाद पोस्टमार्टम कराने से लेकर अंतिम संस्कार तक जिला परिषद सदस्‍य किशोर यादव मौजूद रहे।

पुलिस ने निकाला सरोज की मोबाइल का कॉल डिटेल, पांच हिरासत में

पुलिस ने सरोज उपाध्याय की मोबाइल का कॉल डिटेल निकाला जो उसके संपर्क में थे। इस आधार पर पांच युवकों को हिरासत में लिया है। इनमें अनीस पांडेय, आदित्य, अमरेंद्र और दो अन्य है।

सीसीटीवी फुटेज में रात ढाई बजे बाइक से जाते दिखे सरोज व सिमरन

पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज खंगाला तो उसमें दोनों की तस्‍वीरें कैप्‍चर हुई थीं। सरोज उपाध्याय और सिमरन कुमारी को बागबेड़ा कॉलोनी के अनीस पांडेय ने बाइक से पिगमेंट गेट के पास जुगसलाई पार्क में रात ढाई बजे पहुंचाया था। बाइक अनीस पांडेय चला रहा था। सरोज बीच और सिमरन पीछे बैठी थी। अनीस पांडेय पुलिस हिरासत में है।उसने पूछताछ में पुलिस को बताया कि सरोज उपाध्याय ने मंगलवार रात दो बजे के करीब फोन कर बागबेड़ा लाल बिल्डिंग दुर्गा पूजा मैदान के पास बुलाया था। जब वह पहुंचा सरोज और सिमरन वहां खड़े मिले। उन्‍हें लेकर लाल बिल्डिंग चौक से गाढ़ाबासा बस्ती होते हुए पिगमेंट गेट के पार्क के पास पहुंचा। दोनों को छोडऩे के बाद वह वापस घर लौट गया। अनीस पांडेय ने बताया कि रात ढाई बजे सरोज उपाध्याय से उसकी फोन पर बातचीत हुई थी।  सरोज और सिमरन पार्क में ही थे। 

 

Posted By: Vikas Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप