जमशेदपुर, जासं। बिष्टुपुर स्थित होटल अलकोर में लॉकडाउन नियमों का उल्लघंन किए जाने के मामले में होटल मालिक राजीव सिंह दुग्गल और मैनेजर धनंजय कुमार सिंह की जमानत याचिका प्रधान जिला व सत्र न्यायाधीश की अदालत ने मंजूर कर ली।

इससे पहले दोनों की याचिका खारिज हो गई थी। इसी मामले में बिष्टुपुर थाने से 25 अप्रैल को रेलवे ठेकेदार राजेश मंगोतिया उर्फ लड्डू मंगोतिया, दीपक अग्रवाल और रजत जग्गी को जमानत दे दी गई थी। पुलिस पर पैसे लेकर छोड़ने का आरोप लगा था। मामला हाईप्रोफाइल होने के कारण दंडाधिकारी सूरज कुमार की शिकायत पर होटल मालिक, मैनेजर, रेलवे ठेकेदार समेत पांच के खिलाफ लॉकडाउन उल्लघंन की प्राथमिकी दर्ज की गई थी। पुलिस मुख्यालय ने जांच के आदेश दिए थे। होटल में स्पा और बार संचालित किए जाने तथा देह व्यापार का धंधा कराने की बात जांच में सामने अई थी। पुलिस ने होटल को सील कर दिया। देह व्यापार मामले में आरोपितों को कोई राहत नहीं मिली है। मामला हाईकोर्ट में है। 

रेलवे ठेकेदार की बढ़ गई परेशानी

 देह व्यापार के आरोप में जेल में बंद जुगसलाई निवासी रेलवे ठेकेदार राजेश मंगोतिया उर्फ लड्डू मंगोलिया की परेशानी बढ़ती जा रही है। जुगसलाई धाना के एक धोखाधड़ी मामले में प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी एसआर तिग्गा की अदालत से जमानत खारिज हो चुकी है। 27 मई को न्यायालय ने राजेश मंगोतिया के विरुद्ध प्रोडक्‍शन वारंट निर्गत किया था। 

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस