जमशेदपुर। शहद यानि मधु को हम पूजा एवं दैनिक उपयोग में करते हैं। शहद एक मीठा पदार्थ है। शहद को हम चीनी के स्थान पर भी उपयोग करते हैं। शहद का उपयोग के बारे में पुराने जमाने से लोग करते आ रहे हैं। शहद के फायदे के बारे में आयुर्वेद में भी कहा गया है। आयुर्वेद में शहद को औषधि का दर्जा दिया गया है। 

शहद का उपयोग आप किसी भी रूप में करें यह मनुष्य की सेहत के लिए लाभदायक होता है। शहद जरूरी पोषक तत्वों, खनिज और विटामिन का भंडार है। शहद के बहुत सारे फायदे हैं। शहद के फायदे के बारे में जानते हैं जमशेदपुर की प्रसिद्ध डायटीशियन अनु सिन्हा से। अनु सिन्हा कहती हैं कि कोई भी खाद्य पदार्थ को खाने या ना खाने उसके फायदा व नुकसान के बारे में अपने चिकित्सक या अहारविद से जरूर सलाह ले लिया करें।

शहद की असली व नकली का ऐसे करें पहचान

शहद असली है या नकली। इसका उपयोग करने से पहले पहचान करना जरूरी है। उपयोग से पहले बस यह जांच लें कि शहद असली है या नकली। क्योंकि मिलावटी शहद खाने से सेहत को नुकसान हो सकता है। असली शहद काफी गाढ़ा होता है। और पानी में डालने से जल्दी घुलता नहीं है, बल्कि तली में जाकर जम जाता है। जबकि नकली शहद पानी में जल्दी घुल जाता है।

शहद का उपयोग से होने वाले फायदे

  • शहद वजन को कम करने में काफी सहायक होता है। इसके इस्तेमाल से मोटापा को कम करने में सहायक होती है।
  • खांसी होने पर शहद के इस्तेमाल से खांसी में आराम मिलता है।
  • शहद में रोग प्रतिरोधक क्षमता होने के कारण इसका इस्तेमाल फायदेजनक होता है।
  • शहद का उपयोग से कब्ज की समस्या को दूर करने में सहायक होता है।
  • शहद का इस्तेमाल करने से त्वचा रोग से संबंधित समस्या दूर होती है।
  • शहद का उपयोग करने से बालों को पोषक मिलता है और सुंदरता को बढ़ाता है।
  • शहद का उपयोग एक निश्चित मात्रा में करने से फायदा होता है, अन्यथा नुकसान भी पहुंचाता है।

शहद के उपयोग से नुकसान

  • मधुमेह के बीमारी से ग्रसित व्यक्ति को बिना डाक्टर या डायटीशियन के सलाह के बिना शहद का उपयोग नहीं करना चाहिए। इसका उपयोग करने से मधुमेह बढ़ सकता है।
  • शहद को कभी भी गर्म पानी या दूध के साथ नहीं लेना चाहिए।
  • शहद को उबाल कर नहीं पीना चाहिए।
  • शहद का अधिक उपयोग ब्लड प्रेशर को अनियंत्रित कर सकता है।
  • छोटे बच्चों को शहद को अत्यधिक सेवन नहीं करना चाहिए।
  • घी के साथ शहद का उपयोग नहीं करना चाहिए।
  • पराग कणों से एलर्जी वालों को शहद का सेवन नहीं करना चाहिए।

Edited By: Jitendra Singh