जमशेदपुर (जागरण संवाददाता)। पुरानी सरकारों ने क्षत्रिय वीरों का इतिहास पाठ्य पुस्तकों से हटाया। ताकि, राष्ट्र निर्माण के योगदान में क्षत्रियों की अभूतपूर्व कुर्बानियों को छिपाया जा सके, लेकिन इतिहास और क्षत्रिय एक दूसरे के पर्याय हैं। इसलिए क्षत्रियों को चाहिए कि वो अपने बच्चों को क्षत्रिय वीरों का इतिहास जरूर पढ़ाएं जिससे उनके अंदर मौजूद अदम्य साहस व पराक्रम और निखर कर सामने आए।

ये बातें आगरा से आए समारोह के मुख्य अतिथि अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजा मानवेंद्र सिंह ने कहीं। उन्होंने सिदगोड़ा टाउन हाल में रविवार की शाम महाराणा प्रताप की पुण्य तिथि पर आयोजित क्षत्रिय गौरव सम्मान समारोह में हल्दीघाटी समेत तमाम युद्धों का जिक्र कर क्षत्रिय समाज को उससे सबक लेने की बात कही। हल्दीघाटी के युद्ध का जिक्र किया और कहा कि जब राणा प्रताप ने आक्रमण किया तो मुगलों की सेनाएं 2 किलोमीटर तक भाग गई थीं। महिला सभा की कविता परमार ने राजपूतों को नशे से दूर रहने को कहा। साथ ही दहेज विहीन शादी करने और शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ने का आह्वान किया।

उन्होंने कहा कि जो क्षत्रिय बिना दहेज लिए विवाह करेगा उसे अगले साल सम्मानित किया जाएगा। क्षत्रिय महासभा के चंद्रगुप्त सिंह समेत अन्य वक्ताओं ने भी अपनी बातें रखीं। इस मौके पर पारितोष सिंह, खादी ग्रामोद्योग बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष जयनंदू, रणविजय सिह, एनके सिंह आदि मौजूद थे। समारोह में सम्मानित किए गए नवनिर्वाचित तीन विधायक : सिदगोड़ा टाउन हॉल में रविवार की रात क्षत्रिय सम्मान समारोह प्रदेश के क्षत्रिय विधायकों जमशेदपुर पूर्वी के विधायक सरयू राय, झरिया की विधायक पूर्णिमा सिंह और हुसैनाबाद के विधायक कमलेश सिंह को सम्मानित किया गया।

राष्ट्रीय क्षत्रिय महासभा के अध्यक्ष आगरा से आए राजा मानवेंद्र सिंह के अलावा 1971 के युद्ध में हिस्सा लेने वाले पूर्व सैनिक रमेश सिंह, चंद्रमा सिंह, राजे सिंह, भारतीय एयर फोर्स में रहे राजीव कुमार सिंह और पूर्व सैनिक परिषद के राजीव रंजन सिंह आदि भी सम्मानित हुए। सीएम को उनके गढ़ में घुस कर हराने पर सरयू को बधाई : अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजा मानवेंद्र सिंह ने जमशेदपुर पूर्वी के विधायक सरयू राय को इस बात के लिए बधाई दी कि उन्होंने एक मुख्यमंत्री को हरा कर क्षत्रिय एकता का इतिहास रचा। इसके लिए उन्होंने एकजुटता दिखाने वाले क्षत्रिय समाज और अन्य जातियों को भी बधाई का पात्र बताया। झारखंड क्षत्रिय महासंघ के अध्यक्ष शंभू सिंह ने भी कहा कि पूर्वी से जीत हासिल कर सरयू राय ने पूर्व सीएम के अहंकार को चूर कर दिया।

एकजुट होकर पराक्रम दिखाएं : सरयू

जमशेदपुर पूर्वी के विधायक सरयू राय ने कहा कि जमशेदपुर पूर्वी से उनकी किस परिस्थिति में जीत हुई है, उससे सब अवगत हैं। उन्होंने अपनी जीत को सभी को समर्पित करते हुए कहा कि इसी तरह अगर एकजुट होकर पराक्रम दिखाया जाएगा तो समाज की हर चुनौती सफल होगी। जो सत्य के लिए खड़ा हो वही क्षत्रिय : विधायक पूर्णिमा झरिया की विधायक पूर्णिमा सिंह ने संस्कृति की एक पंक्ति सुना कर कहा की क्षत्रिय वही है जो क्षति के खिलाफ खड़ा हो। जो सत्य के लिए खड़ा हो।

उसके लिए लड़ाई लड़े जिसका कोई नहीं। उन्होंने कहा कि समाज एकजुट हो जाए। हमारी यही कमी है कि हम एकजुट नहीं है। सरयू राय इंजन, हम सब डिब्बा : विधायक कमलेश हुसैनाबाद के विधायक कमलेश सिंह ने कहा जमशेदपुर पूर्वी के विधायक सरयू राय को ट्रेन का इंजन बताते हुए कहा कि वो सब लोग तो डिब्बा हैं। उन्होंने कहा कि क्षत्रिय समाज को सरयू राय के निर्देशन की जरूरत है। उन्होंने समारोह में महिलाओं की उपस्थिति की सराहना करते हुए कहा कि जमशेदपुर की महिलाएं ज्यादा जागरूक हैं। जमशेदपुर में बनेगी क्षत्रियों की डायरेक्टरी : सम्मान समारोह में एलान किया गया कि जमशेदपुर में क्षत्रियों की डायरेक्टरी बनाई जाएगी। इसमें एक-एक क्षत्रिय का नाम और नंबर होगा। कहा गया कि आदित्यपुर और जमशेदपुर को मिला कर शहर में एक लाख से अधिक क्षत्रिय हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस