जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : डीसी, एसपी, एसडीओ, डीटीओ ऑफिस के आस-पास के क्षेत्रों में बुधवार को 500 से अधिक डेंगू व जापानी इंसेफ्लाइटिस (जेई) के लार्वा मिलने के बाद हड़कंप मच गया। बुधवार को दिन में बड़े पैमाने पर अभियान चलाकर एंटी लार्वा का छिड़काव कर सभी को नष्ट किया गया। साथ ही कर्मचारियों को जागरूक भी किया गया। जिससे दोबारा लार्वा पनपने से रोका जा सकें। वहीं शाम में फॉगिंग हुआ। जिससे मच्छरों के प्रकोप को कम किया जा सकें।

डेंगू रोग एडीज एजिप्टी मच्छर के काटने से होता है। जबकि क्यूलेक्स मच्छर के काटने से जेई, फाइलेरिया व मलेरिया जैसी बीमारियां होती हैं। वैसे भी पूर्वी सिंहभूम जिला डेंगू, जेई व मलेरिया का गढ़ है। यहां हर साल इसमें से कोई एक बीमारी कहर बरपाती है। इस साल अबतक डेंगू के सबसे अधिक कुल दस मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। बरसात को देखते हुए जिला मलेरिया व फाइलेरिया विभाग द्वारा अभियान चलाया जा रहा है।

---

कंटेनर, गमला, हंडी में थे लार्वा

डीसी, एसपी, एसडीओ, डीटीओ सहित अन्य सभी ऑफिस में रखे गए कंटेनर, गमला, हंडी, टंकी, टायर की जांच की गई। सबसे अधिक कंटेनर व गमला में डेंगू, जेई, मलेरिया व फाइलेरिया का लार्वा मिले। सभी कर्मचारियों से कहा गया कि इन सभी चीजों की साफ-सफाई करने के साथ-साथ पानी के जमाव से बचे। साफ पानी में ही डेंगू का लार्वा पनपता है।

--

रोजाना आते सैकड़ों लोग

डीसी, एसपी, एसडीओ, डीटीओ सहित आस-पास के कार्यालय में रोजाना सैकड़ों लोग सरकारी योजनाओं का लाभ व अपनी शिकायतें लेकर आते हैं। ऐसे में अगर मच्छरों का समूह तैयार होता तो वह यहां महामारी फैल सकती थी। क्योंकि वायरस की तरह यह बीमारी तेजी से फैलती है।

---

आज एमजीएम व पीडब्ल्यूडी कालोनी में चलेगा अभियान

बरसात को देखते हुए एंटी लार्वा का छिड़काव अभियान को तेज कर दिया गया है। पहले दिन की शुरुआत डीसी व एसपी ऑफिस से हुई। गुरुवार को महात्मा गांधी मेमोरियल (एमजीएम) मेडिकल कॉलेज अस्पताल व पीडब्ल्यूडी कॉलोनी में अभियान चलेगा। वहीं शुक्रवार को जुगसलाई स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) व खासमहल स्थित सदर अस्पताल में अभियान चलाकर एंटी लार्वा का छिड़काव व फॉगिंग किया जाएगा।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस