जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : हाइड्रोसिल मरीजों की मुफ्त में सर्जरी होगी। पूर्वी सिंहभूम जिले में 1048 मरीजों को चिन्हित किया गया। इसमें 60 की सर्जरी हो चुकी है। शनिवार को सिविल सर्जन डॉ. महेश्वर प्रसाद की अध्यक्षता में हुई बैठक में जिला मलेरिया पदाधिकारी डॉ. एके लाल ने यह जानकारी दी।

खासमहल स्थित सिविल सर्जन कार्यालय में आयोजित समीक्षात्मक बैठक में जिलेभर के पदाधिकारी व कर्मचारी शामिल हुए। सिविल सर्जन डॉ. महेश्वर प्रसाद ने सभी संबंधित विभाग व कर्मचारियों को समन्वय के साथ काम करने का निर्देश दिया। जिससे सरकार की योजनाओं को धरातल पर उतारा जा सकें। वहीं जिला मलेरिया पदाधिकारी डॉ. एके लाल ने बताया कि जिले में अगर कोई व्यक्ति हाइड्रोसिल रोग से ग्रस्त है और वह इलाज कराने में असमर्थ है तो उनका इलाज विभाग मुफ्त में कराएगा। ऐसे रोगी नजदीकी स्वास्थ्य केंद्रों पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते है। इसके लिए मानगो डिमना रोड स्थित मयंक मृणाल अस्प्ताल से करार भी किया गया है। इन मरीजों के लिए सरकार ने फंड उपलब्ध करायी है। बैठक में जिला टीबी पदाधिकारी डॉ. प्रभाकर भगत, मलेरिया इंस्पेक्टर शशी सहित अन्य पदाधिकारी व कर्मचारी मौजूद थे। 2020 तक मलेरिया व फाइलेरिया मुक्त होगा जिला

जिले के पोटका, पटमदा सहित अन्य प्रखंडों में मलेरिया का स्लाइड संग्रह में कमी आने के बाद उस क्षेत्र के कर्मचारियों को फटकार लगी। डॉ. एके लाल ने कहा कि सहिया व एएनएम को क्षेत्र का भ्रमण कर स्लाइड की संख्या बढ़ाने का निर्देश दिया। इसके साथ ही सीएचसी स्तर पर होने वाले साप्ताहिक व मासिक बैठक में भाग लेने को कहा। 2020 तक जिले को मलेरिया व फाइलेरिया रोग से मुक्त बनाने पर जोर दिया गया। डॉ. एके लाल ने बताया कि मेडिकेटेड मच्छरदानी बटने के बाद मलेरिया पीड़ितों की संख्या में कमी आई है। बीते साल नवंबर माह में मलेरिया के 234 मरीजों की पुष्टि हुई थी जो इसबार 130 मरीज मिले है।

Posted By: Jagran