चाईबासा, एजेंसी। झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम जिले में गुरुवार सुबह से ही माओवादियों और सुरक्षा बलों के बीच भीषण मुठभेड़ चल रही है। टोंटो-गोइलकेरा सीमा के बीहड़ जंगल में दोनों ओर से सैकड़ों राउंड फायरिंग की सूचना मिल रही है। इसमें दो कोबरा जवानों के घायल होने की भी जानकारी मिली है । पिछले कुछ दिनों से ही एक करोड़ के ईनामी हार्डकोर नक्सली मिसिर बेसरा समेत अन्य बड़े नक्सली नेताओं के होने की सूचना पर सुरक्षाबलों के द्वारा जंगलों में लगातार छापेमारी की जा रही है।

ईनामी माओवादी को पकड़ने के लिए चला रहे थे सर्च ऑपरेशन 

इसी दौरान गुरुवार अहले सुबह जब सुरक्षा बल के जवान जंगलों में सर्च ऑपरेशन चला रहे थे। जवानों को देखते हुए नक्सलियों ने अंधाधुन फायरिंग शुरू कर दी, जिससे दो कोबरा बटालियन के जवानो को गोली लगी है, हालांकि इसकी पुष्टि पुलिस प्रशासन नहीं कर रही है। साथ ही घायल जवानों को बेहतर इलाज के लिए हेलीकॉप्टर से रांची भेजी गई है। इस संबंध में पश्चिम सिंहभूम पुलिस अधीक्षक आशुतोष शेखर से पूछे जाने पर उन्होंने मुठभेड़ की पुष्टि की है लेकिन अब तक किसी जावन के घायल होने की जानकारी नहीं दी है।

वहीं कोल्हान संभाग के उप महानिरीक्षक अजय लिंडा ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया कि टोंटो क्षेत्र के एक जंगल में सर्च ऑपरेशन चलाने के दौरान  प्रतिबंधित सीपीआई (माओवादी) संगठन के कार्यकर्ताओं ने सुरक्षाकर्मियों पर हमला कर दिया। जवाबी कार्रवाई में जवानों ने भी फायरिंग की।

भारी मात्रा में मिले हथियार

अबतक मुठभेड़ जारी है, जिसमें दो सुरक्षाकर्मियों के घायल होने की खबर है। अजय लिंडा ने कहा कि मुठभेड़ अब भी जारी है। विस्तृत जानकारी के लिए अभी तोड़ा इंतजार करना पड़ेगा। लिंडा ने बताया कि सर्च ऑपरेशन के दौरान हथियार और गोला-बारूद के साथ बड़ी संख्या में इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (IED) जब्त किए गए, जो सुरक्षा बलों को हताहत करने के इरादे से लगाए गए थे।

Edited By: Aditi Choudhary

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट