जमशेदपुर (जासं)। कभी भाजपा के दिग्गज नेता रहे केएन गोविंदाचार्य ने कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) पर भ्रम की स्थिति है, जिससे इसके अंध-विरोधी और अंध-समर्थक ‘कौवा कान लेकर गया’ की तर्ज पर कौवे के पीछे दौड़ रहे हैं, कोई अपनी कान नहीं देख रहा है।

इसकी वजह खुद सत्ता पक्ष है, जिसकी साख घटी है। प्रधानमंत्री कहते हैं कि एनआरसी पर कोई बात नहीं हुई है, जबकि गृह मंत्री बाहर चीख-चीखकर कह रहे हैं कि एनआरसी पूरे देश में लागू होकर रहेगा। यही बात पूरे देश के माहौल को भ्रम और तनावपूर्ण बना रही है। दिल्ली का शाहीन बाग तो विरोधी और समर्थकों के लिए खिलौना जैसा बन गया है। दोनों पक्ष इसी के नाम पर चुनाव जीतना चाहते हैं।

उनका विचार है कि दिल्ली चुनाव को देखते हुए ही सही शाहीन बाग से विपक्ष को भी हट जाना चाहिए। गोविंदाचार्य आज  विधायक सरयू राय के एक कार्यक्रम में शामिल होनेवाले हैं। राष्ट्रीय स्वाभिमान आंदोलन के संस्थापक संरक्षक केएन गोविंदाचार्य ने कहा कि पहले उनका जमशेदपुर आगमन कुछ-कुछ अंतराल पर होता था, लेकिन इस बार काफी दिनों बाद आए हैं। फिलहाल वे कर्नाटक में करीब एक करोड़ की आबादी के विकास में जुटे हैं। इससे पहले दिसंबर में वहां ‘भारत विकास संगम’ किया था, जिसमें आठ दिन के अंदर 20 लाख लोग शामिल हुए थे।

शहर पहुंचने पर सरयू राय ने की मुलाकात

 केएन गोविंदाचार्य रविवार को दोपहर बाद जमशेदपुर पहुंचे। वे जुगसलाई में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) कार्यकर्ता महेंद्र जैन के आवास पर ठहरे हैं, जहां उनसे जमशेदपुर पूर्वी के निर्दलीय विधायक सरयू राय मिले। गोविंदाचार्य सोमवार को सरयू राय की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होने आए हैं।

सरयू के संरक्षण में संचालित स्वर्णरेखा क्षेत्र विकास ट्रस्ट की ओर से बिष्टुपुर स्थित तुलसी भवन में ‘विकास की अवधारणा’पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया है। इसकी तैयारी पूरी हो गई है। इस कार्यक्रम के मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वाभिमान आंदोलन के संस्थापक संरक्षक केएन गोविंदाचार्य होंगे। इस कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के तौर पर पर्यावरणविद प्रो. दिनेश मिश्र, आरएसएस के महानगर संघचालक वी नटराजन व जुगसलाई नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष मुरलीधर केडिया है।

कार्यक्रम की अध्यक्षता झारखंड सरकार के पूर्व खाद्य आपूर्ति मंत्री जमशेदपुर पूर्वी के निर्ददली विधायक सरयू राय करेंगे। गोविंदाचार्य जुगसलाई निवासी वरिष्ठ पत्रकार रतन जोशी के आवास भी उनसे मिलने गए। जोशी काफी दिनों से बीमार चल रहे हैं।

Posted By: Vikas Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस