जमशेदपुर, अमित तिवारी। जमशेदपुर शहरवासियों के लिए अच्छी खबर है। आंशिक लॉकडाउन का बेहतर परिणाम निकलकर सामने आया है। वायरस की चेन को तोड़ने में हम काफी हद तक सफल हुए हैं। अगर इसी रफ्तार से मरीजों की संख्या घटी तो यकीनन जल्दी ही कोरोना पर काबू पा लेंगे।

आंशिक लॉकडाउन के बाद से अभी तक कुल 99 हजार 380 लोगों की जांच हुई है। इसमें 17 हजार 486 पॉजिटिव मिले हैं। जबकि 15 हजार 878 स्वस्थ हुए हैं। इसमें अच्छी बात यह है कि लॉकडाउन के दूसरे सप्ताह से मरीजों की संख्या तेजी से घटना शुरू हुई है। दूसरे सप्ताह में कुल 35 हजार 405 लोगों की जांच की गई। इसमें छह हजार 337 पॉजिटिव मिले और छह हजार 516 स्वस्थ हुए। तीसरे सप्ताह स्वस्थ होने वालों की संख्या और बढ़ी है। तीसरे सप्ताह में अभी तक कुल 27 हजार 972 लोगों की जांच हुई है। इसमें चार हजार 100 पॉजिटिव मिले है। जबकि चार हजार 492 स्वस्थ हुए है। यानी 392 अधिक ठीक हुए। इस तरह से स्वस्थ होने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। जबकि 22 अप्रैल को यानी 20 दिन पूर्व जब आंशिक लॉकडाउन की घोषणा की गई थी तब शहर में दोगुने रफ्तार से मरीज बढ़ रहे थे। उस दिन कुल 4769 लोगों की जांच हुई थी। इसमें 729 पॉजिटिव मिले थे और 361 मरीज स्वस्थ हुए थे। यानी 368 मरीज अधिक।

तीन दिन में दो हजार 691 मरीज हुए स्वस्थ

शहर में बीते तीन दिन से संक्रमितों से अधिक स्वस्थ होकर घर लौटने वाले मरीजों की संख्या बढ़ी है। तीन दिन में कुल दो हजार 691 मरीज स्वस्थ हुए हैं। जबकि दो हजार 107 मरीज संक्रमित हुए हैं।

इस तरह घट रहे मरीज

  •  पहली आंशिक लॉकडाउन में अधिक मिले मरीज (22 से 29 अप्रैल)
  • 7049 मरीज मिले।
  • 4870 स्वस्थ हुए।
  • 2179 मरीज अधिक मिले।

दूसरे आंशिक लॉकडाउन में स्वस्थ अधिक हुए (30 अप्रैल से 6 मई)

  • 6337 मरीज मिले।
  •  6516 स्वस्थ हुए।
  • 179 मरीज अधिक स्वस्थ हुए।

तीसरे आंशिक लॉकडाउन में भी अधिक स्वस्थ हुए (7 से 11 मई अभी तक)

  • 4100 मरीज मिले।
  • 4492 मरीज स्वस्थ हुए।
  • 392 अधिक स्वस्थ हुए

आंशिक लॉकडाउन के एक सप्ताह पूर्व भी अधिक मिल रहे थे मरीज ( 4 से 11 अप्रैल)

  •  1658 मरीज मिले।
  •  616 स्वस्थ हुए।
  • 1042 मरीज अधिक मिले।

आंशिक लॉकडाउन के 20 दिन बाद की स्थिति

दूसरी लहर क पहला आंशिक लॉकडाउन (22 से 29 अप्रैल)

तिथि - मरीज - जांच - स्वस्थ हुए

  • 22 अप्रैल - 729 - 4769 - 361
  • 23 अप्रैल - 810 - 4891 - 356
  • 24 अप्रैल - 870 - 3890 - 368
  • 25 अप्रैल - 1002 - 2315 - 361
  • 26 अप्रैल - 604 - 5324 - 934
  • 27 अप्रैल - 992 - 7055 - 706
  • 28 अप्रैल - 1152 - 4760 - 882
  • 29 अप्रैल - 890 - 2999 - 902

कुल - 7049 - 36003 - 4870

दूसरा आंशिक लॉकडाउन (30 अप्रैल से 6 मई)

तिथि - मरीज - जांच - स्वस्थ हुए

  • 30 अप्रैल - 1003 - 4614 - 959
  • 1 मई - 974 - 3873 - 974
  • 2 मई - 652 - 2375 - 780
  • 3 मई - 731 - 7136 - 937
  • 4 मई - 1070 - 5611 - 996
  • 5 मई - 897 - 4711 - 863
  • 6 मई - 1010 - 7085 - 1007

कुल - 6337 - 35405 - 6516

तीसरा आंशिक लॉकडाउन (7 से 11 मई)

तिथि - मरीज - जांच - स्वस्थ हुए

  • 7 मई - 968 - 5481 - 890
  • 8 मई - 1025 - 5731 - 911
  • 9 मई - 562 - 2927 - 732
  • 10 मई - 1015 - 8570 - 1094
  • 11 मई - 530 - 5263 - 865

कुल - 4100 - 27972 - 4492

आंशिक लॉकडाउन के एक सप्ताह पूर्व की स्थिति

पहला सप्ताह (4 से 11 अप्रैल)

तिथि - मरीज - जांच - स्वस्थ हुए

  • 4 अप्रैल - 94 - 1565 - 39
  • 5 अप्रैल - 99 - 2171 - 31
  • 6 अप्रैल - 191 - 3413 - 46
  • 7 अप्रैल - 149 - 2329 - 40
  • 8 अप्रैल - 204 - 2557 - 56
  • 9 अप्रैल - 256 - 3110 - 72
  • 10 अप्रैल - 303 - 3059 - 201
  • 11 अप्रैल - 362 - 8315 - 131

कुल - 1658 - 26519 - 616

इनकी सुने

आंशिक लॉकडाउन की वजह से मरीजों की संख्या घटी है। वायरस के चेन को तोड़ने में काफी हद तक सफलता मिली है। लोगों को और सहयोग करने की जरूरत है। ताकि तीसरी लहर के प्रकोप से भी बचा जा सकें।

- डॉ. एके लाल, सिविल सर्जन।