पोटका (पूर्वी सिंहभूम), जासं। झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड अब सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली बिल के भुगतान के लिए एटीपी मशीन लेकर पहुंचा है। अब गांव-गांव में घूमकर दस दिनों तक बिजली बिल का भुगतान लिया जाएगा। पूर्वी सिंहभूम के पोटका की 34 पंचायतों के सैकड़ों गांव के बिजली उपभोक्ता दो ही बिजली भुगतान का काउंटर होने से बिजली बिल का भुगतान नहीं कर पा रहे थे।

40 से 50 किलोमीटर दूर ग्रामीण क्षेत्रों से आकर हाता या जादूगोड़ा में बिजली बिल का भुगतान करने में ग्रामीणों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। इस वजह से बिजली विभाग को समय पर उपभोक्ताओं से बिल का भुगतान नहीं हो पा रहा था। जिसके मद्देनजर झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड द्वारा अब एटीपी मशीन से लैस वाहन को लेकर गांवों में भेजा जा रहा है। बिजली विभाग के एसडीओ प्रशांत राज का कहना है कि सुदूरवर्ती गांव में जहां के उपभोक्ता बिजली बिल भुगतान करने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है वैसे उपभोक्ताओं के लिए खुशखबरी है कि वे अपने घर के पास ही एटीपी मशीन से लैस वाहन में बिजली बिल का भुगतान कर पाएंगे। जिसको लेकर शुभारंभ हाता चौक से किया गया जो 10 दिनों तक ग्रामीण क्षेत्रों में रहकर बिजली बिल ले सकेंगे l दूरदराज के ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोग बिजली बिल का समय पर भुगतान नहीं करने पर हजारों रुपया बकाया हो जा रहा था जिसके कारण बिजली कनेक्शन विच्छेद की नौबत आ रही थी। इसी को दूर करने के लिए एटीपी मशीन गांव में भेजा जा रही है  ताकि समय पर बिजली बिल का भुगतान हो। उपभोक्ता का कनेक्शन ना कटे इस को ध्यान में रखकर व्यवस्था को लागू किया गया है l अब उम्मीद है कि ग्रामीण उपभोक्ता नइ सुविधा का लाभ उठाएंगे एवं उन्हें समस्या का भी सामना नहीं करना पडेगा।

Edited By: Rakesh Ranjan