जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : काशीडीह स्थित कुंती टावर के सामने पार्किंग की बेहद दिक्कत है। टावर स्थित दुकानों में आने वाले ग्राहक सड़क पर ही वाहन खड़े करते हैं। इससे यातायात व्यवस्था चौपट हो रही है। जबकि, कुंती टावर के बेसमेंट को नक्शे में पार्किंग दिखाया गया है। लेकिन, इसका व्यवसायिक प्रयोग किया जा रहा है। बेसमेंट में पार्किंग की जगह गोदाम बना लिया गया है। बेसमेंट को चैनल गेट लगा कर बंद कर दिया गया है।

काशीडीह में कालीमाटी रोड पर बने कुंती टावर के बेसमेंट में पार्किंग का नक्शा पास किया गया है। लेकिन, इसमें व्यवसायिक गतिविधि हो रही थी। इस वजह से हाईकोर्ट के आदेश पर 17 मार्च 2011 को इस टावर के बेसमेंट को सील कर दिया गया था। लेकिन, बाद में मालिक के बेसमेंट को पार्किंग में तब्दील करने का शपथ पत्र देने के बाद सील खोल दी गई थी। लेकिन, इसके बाद भी बेसमेंट में व्यवसायिक गतिविधि जारी है। अभी बेसमेंट में गोदाम चल रहा है। इस वजह से ज्यादातर वाहन बाहर ही खड़े होते हैं। बेसमेंट के चैनल गेट पर एक गार्ड की तैनाती की गई है। गार्ड ने बताया कि अंदर बेसमेंट में दुकान नहीं बल्कि गोदाम चल रहा है। गौरतलब है कि जमशेदपुर में पार्किंग की काफी दिक्कत है। सरकार ने एक योजना लाकर बेसमेंट को नियमित करने की मुहिम चलाई थी। लेकिन, इस योजना में शहर की ज्यादातर इमारतों के बेसमेंट नियमित नहीं हुए। नियमानुसार बिल्डर को 1000 रुपये प्रति वर्गफीट के हिसाब से जुर्माना देने के साथ ही नजदीक में एक पार्किंग का निर्माण भी करना था। उल्लंघन करने वालों पर होगी कार्रवाई

नगर विकास विभाग के नगरीय प्रशासन निदेशालय के निदेशक आशीष सिंहमार ने जमशेदपुर अक्षेस के विशेष अधिकारी से शहर में हो रहे बिल्डिंग बायलाज के उल्लंघन पर रिपोर्ट तलब कर ली है। साथ ही उन्हें उन इमारतों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा है जिनमें बिल्डिंग बायलाज का उल्लंघन हो रहा है। लगातार बिल्डिंग बायलाज का उल्लंघन करने वाले बिल्डरों की सूची तैयार की जाएगी।

Posted By: Jagran