जमशेदपुर, जासं। राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगी प्रवेश परीक्षाओं में धांधली का केंद्र जमशेदपुर बन गया है। दो साल पूर्व मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट (NEET Scam) का प्रश्न पत्र भी लीक हो गया है। इस मामले में भी पुलिस ने दबिश दी थी, हालांकि कोई सफलता नहीं मिली। हाल ही में नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा आयोजित जेईई मेन (JEE Mains Scam) की परीक्षा में धांधली को लेकर सीबीआई ने जमशेदपुर और आदित्यपुर में दबिश दी।

इस दौरान आदित्यपुर से जेईई मेन की परीक्षा में धांधली करने के आरोप में सोनु ठाकुर को गिरफ्तार किया गया, जबकि उसका सरकार रंजीत शर्मा अब तक फरार चल रहा है। उसका कार्यालय आदित्यपुर में ही है। बताया जा रहा है कि रंजीत प्रश्न पत्रों को हल कराने के लिए सॉल्वर की तलाश कर परीक्षा प्रक्रियाओं का पालन करता था। अब नया मामला सामने आया है वह ग्रेजुएट मैनेजमेंट प्रवेश परीक्षा यानि जी मैट का। इस परीक्षा में भी धांधली की बात सामने आई है।

परीक्षा में धांधली को लेकर महाराष्ट्र के पुणे पुलिस ने जमशदेपुर के मानगो में दबिश दी और जी मैट प्रवेश परीक्षा में धांधली करने के आरोपी अभय कुमार मिश्र को मानगो हिल व्यू कॉलानी से गिरफ्तार किया। वह यहां दो साल से रहकर ठेकेदारी का कार्य कर रहा था।

पुणे में उसके खिलाफ वर्ष 2019 में मामला दर्ज किया गया था। पुणे साइबर थाना में दर्ज प्राथमिकी के अनुसार वह युवकों से रुपए लेकर उन्हें जी मैट की परीक्षा दिलाता था। कई युवकों का उसने विदेश के कॉलेजों में नामांकन भी कराया था।

जमशेदपुर है सॉफ्ट टारगेट

प्रतियोगी प्रवेश परीक्षाओं में धांधली कराने वालों का सॉफ्ट टारगेट जमशेदपुर है। यहां उतनी धरपकड़ पहले से नहीं हो रही थी। इस कारण धांधली करने वाले लोगों से इसे केंद्र बना रखा था। मगर अब पुलिस और सीबीआई दोनों की नजर जमशेदपुर पर है। इस कारण प्रवेश परीक्षाओं में गड़बड़ी कराने वाले ठेकेदार फूंक-फूंक कर कदम रख रहे हैं।

Edited By: Jitendra Singh