जमशेदपुर (जासं)। झारखंड अधिविद्य परिषद (जैक) की ओर से आयोजित 11वीं की परीक्षा में फेल घोषित किए जाने का मामला ठंडा पड़ता नहीं दिख रहा है। बार-बार किए गए विरोध प्रदर्शन और आंदोलनों के बाद मामला बनता नहीं देख अब उत्‍तीर्ण किए जाने की मांग को लेकर विद़यार्थी भूख हड़ताल करने पर उतर आए हैं। इसकी शुरुआत जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज से गुरुवार को हुई।

गुरुवार से जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज गेट पर यहां की छात्राएं भूख हड़ताल पर बैठ गई। आजसू की छात्र इकाई छात्र आजसू के कोल्हान अध्यक्ष हेमंत पाठक ने बताया कि शुक्रवार से जमशेदपुर को-ऑपरेटिव कॉलेज व वर्कर्स कॉलेज के फेल छात्र भी उपायुक्त कार्यालय के सामने भूख हड़ताल पर बैठेंगे। जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज गेट के सामने इंटर की छात्रा रूपा कुमारी, अंजलि कुमारी, मालती कुमारी, रीता सोरेन, स्वाति कुमारी, अलका झा, अनिशा कुमारी, बबीता बिरूली, सुरभि कुमारी, विनीता कुमारी, अंकिता कुमारी, पूजा कुमारी, रजनी झा भूख हड़ताल पर बैठी है। छात्र आजसू की मांग है कि 11वीं में फेल छात्रों को उत्तीर्ण करवाने की व्यवस्था की जाये।

छात्र-छात्राओं ने लगाया भविष्‍य से खिलवाड़ करने का आरोप

मार्जिनल अंक के नाम पर फेल किए गए छात्र-छात्राओं ने उनके भविष्‍य के साथ खिलवाड़ करने का आरोप जैक पर लगाया है। उनका कहना है कि पूर्वी सिंहभूम से सैकड़ों छात्र फेल हो गए है। जैक छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहा है।

जैक कम से कम इन छात्रों के विशेष परीक्षा तो आयोजित करवा ही सकता है ताकि  विद़यार्थियों को कम से कम एक मौका तो मिल सके। छात्र आजसू के कोल्हान अध्यक्ष हेमंत पाठक ने कहा कि परीक्षा में जिले में करीब 8 हजार समेत राज्य भर में करीब 49 हजार विद्यार्थी फेल या मार्जिनल घोषित किए गए हैं। अब जब तक हमारी मांगे पूरी नहीं होगी। हम यहां से नहीं उठेंगे। 

Posted By: Vikas Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस