जमशेदपुर, जासं। जमशेदपुर के गोलमुरी बाजार के किराना दुकानदार मनीष अग्रवाल से 10 लाख की रंगदारी मांगी जा रही थी। रंगदारी नहीं देने के कारण ही दुकानदार को डराने-धमकाने के लिए 20 मई की दोपहर को फायरिंग की गई थी।

इस मामले में पुलिस टीम ने एक नाबालिग, गोलमुरी टुइलाडुंगरी के अरिजीत सिंह,नामदा बस्ती आनंदनगर के हरपाल सिंह गब्बर भाई और हरप्रीत सिंह उर्फ रीतिक गिरफ्तार किया है। एक की तलाश जारी है । घटना में प्रयुक्त बाइक और रंगदारी मांगने में इस्तेमाल मोबाइल जब्त किए गए हैं। छीने गए मोबाइल फोन से आरोपित रंगदारी की मांग दुकानदार से कर रहे थे।

सबों की आपराधिक पृष्‍ठभूमि

वरीय पुलिस अधीक्षक एम तामिल वणान ने बताया कि हरपाल सिंह गब्‍बरू भाई और हरप्रीत सिंह उर्फ रीतिक की गतिविधि आपराधिक रही है। गब्बर के खिलाफ पहले से सिदगोड़ा थाना में आठ, गोलमुरी में दो, कदमा ओर टेल्को में एक-एक और रीतिक के खिलाफ हजारीबाग के भरकुंडा थाना में मामला दर्ज है। गिरोह के सदस्‍यों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस अधीक्षक सुभाष चंद्र जाट के नेतृत्व में पुलिस टीम गठित की गई थे।20 मई को बाइक सवार दो बदमाशों ने रंगदारी नहीं देने पर दुकानदार पर दो राउंड फायरिंग कर दी थी। संयोगवश गोली दुकान की शटर में लगी। जिस समय घटना हुई, बारिश हो रही थी। टाइगर मोबाइल के जवान गश्ती पर थे। जवानों ने बदमाशों का पीछा भी किया लेकिन दबोचने में असफल रहे। बदमाश आराम से भाग निकले। सिटी डीएसपी अनुदीप सिंह और गोलमुरी थाना प्रभारी रणविजय शर्मा मौके पर पहुंचे थे। घटनास्थल से पुलिस ने कारतूस का दो खोखा बरामद किया था।

दुकानदार ने पुलिस को नहीं दी थी जानकारी

घटना के एक दिन पहले 19 मई की दोपहर फोन कर बदमाशों ने दुकानदार से रंगदारी की मांग की थी।  इसकी सूचना पुलिस को दुकानदार की ओर से नहीं दी गई थी। घटना के बाद दुकानदार ने पुलिस को पूरी जानकारी दी धी। जिस मोबाइल नंबर से रंगदारी मांगी जा रही थी, उसनंबर का इस्तेमाल करने वालों तक पुलिस पहुंची। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021