जमशेदपुर : मानगो के डिमना चौक स्थित टायर गोदाम में रविवार की मध्यरात्रि को भीषण आग लगी, जिसे बुझाने में डेढ़ दर्जन से ज्यादा दमकलों को 20 घंटे से ज्यादा लग गया। रविवार रात तक आग पर काबू पा लिया गया था। लेकिन 33 घंटे बाद भी आग पूरी तरह नहीं बुझी है। सुबह 11: 30 बजे भी धुएं के साथ हल्की आग जल ही रही है।

33 घंटे बाद भी निकल रहा धुआं, जल रही लौ

पूरा इलाका हुआ धुआं-धुआं

शनिवार मध्यरात 1.40 बजे लगी थी आग

मानगो से पारडीह की ओर जाने वाली टाटा-रांची राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-33 के दाहिनी ओर स्थित मां दुर्गा धर्मकांटा से सटे एक टायर गोदाम में शनिवार मध्यरात 1.40 बजे लगी थी, जिससे अभिलाषा अपार्टमेंट और आसपास की रिहायशी कालोनियों में दिन भर अफरातफरी मची रही। चारों ओर धुआं फैल गया, जिससे क्षेत्र के लोगों की सांस अटकी रही। धुआं आग ने भीषण रूप ले लिया और लपटें ऊंची उठने लगीं। जल रहे टायरों का पूरा धुआं गोदाम से सटे घरों में फैल गया। लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। किसी भीषण घटना की आशंका को देखते हुए अपार्टमेंट के छोर से लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला गया। गैस सिलेंडर को हटा दिया गया।

आग बुझाते दमकल कर्मी

जब आग लगी थी तब दूकान बंद थी

करीब 20 घंटे की कवायद के बाद आग पर काबू पाया जा सका। लोगों के अनुसार जिस समय गोदाम में आग लगी। गोदाम बंद था। आग से गोदाम में धुआं भर गया था, जिसके कारण आग बुझाने में दमकल कर्मियों को ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ा। अंत में आक्सीजन मास्क पहनकर दमकल कर्मी गोदाम में घुसे। उपायुक्त विजया जाधव समेत पुलिस-प्रशासन के तमाम अधिकारी सुबह से डटे रहे। शहर में पहली बार ऐसी भीषण आग लगी, जिसे बुझाने में इतना समय और संसाधन लगे।

घटना स्थल का निरीक्षण करती जमशेदपुर डीसी विजया जाधव।

एनएच 33 पर आवागमन हुआ बाधित

इधर, घटना के कारण मार्ग पर आवागमन भी बाधित हुआ। पारडीह से आने वाले वाहनों को आधा किलोमीटर दूर सहारा सिटी मोड़ से वन वे कर दिया गया था। गोदाम के आस-पास आवासीय क्षेत्र है जिससे लोग परेशान रहे। आग लगने का कारण शार्ट सर्किट बताया जा रहा है। गोदाम में रखे लाखों के टायर धू-धूकर जल गए। धुंआ काफी दूर तक दिखाई देता रहा। संयाेग रहा कि आग क्षेत्र में नहीं फैला, जिससे जान-माल की क्षति नहीं हुई। घटना से आबादी क्षेत्र के लोग दहशत में आ गए थे।गोदाम सिदगोड़ा निवासी महेंद्र यादव के रिश्तेदार का है, जिसे टायर गोदाम की एक कंपनी को किराए पर दिया गया था। गोदाम 25 साल से है। एमजीएम थाना प्रभारी मिथलेश कुमार सिंह ने कहा कि दमकल की संख्या की कोई गिनती नहीं है। शाम तक 16 दमकल लगाए गए थे।

Edited By: Sanam Singh