जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : नौकरी लगाने का झांसा देकर युवतियों से रुपये की ठगी करने वाले युवक विशाल कुमार सिन्हा उर्फ सुशांत को बिष्टुपुर थाना की पुलिस ने शनिवार को रांची के रातू रोड के एक मकान से गिरफ्तार कर लिया। वह मानगो थाना क्षेत्र डिमना रोड संजय पथ में किराये के मकान में रहता था। आरोपित ने बीसीए (बैचलर इन कम्प्यूटर एप्लीकेसंस) की पढ़ाई की है। उसके खिलाफ टेल्को खडंगाझार के राधिकानगर पीएस अपार्टमेंट में रहने वाली शोभा कुमारी ने मुकदमा दर्ज कराया था। शोभा के अलावा आरोपित ने ममता नाथ समेत कई से ठगी की है।

पुलिस को दी गई शिकायत में शोभा कुमारी ने बताया वह टाटा हिताची में नौकरी करती थी। जॉब प्रोफाइल से संतुष्ट नही थी। जिसके कारण नौकरी छोड़ दी। दूसरी नौकरी की तलाश में थी। सुशांत नामक युवक से मोबाइल पर बातचीत हुई। उसने डेल कंपनी में नौकरी लगा देने की जानकारी दी। रजिस्ट्रेशन चार्ज के रूप में 575 रुपये भुगतान करने को कहा। विश्वास कर 15 फरवरी 2019 को उसके द्वारा दिए गए ओरियंटल बैंक आफ कामर्स के खाताधारक विशाल कुमार सिन्हा के नाम से रुपया जमा कर दिया। फोन करते रहा कि नौकरी हो जाएगी। कुछ दिन बाद कहा कि कंपनी में वेकेंसी नही है। कहा, एचपी कंपनी जिसका कार्यालय आदित्यपुर में है, वहां नौकरी लगा देगा। रजिस्ट्रेशन चार्ज के रुप में 1800 रुपये देना होगा। पहले के भुगतान किए गए 575 रुपये काटकर 1275 रुपये जमा करा दे। कुछ दिन बाद कहा कि आपकी नौकरी कंफर्म है।

खरीदना होगा लैपटाप

शोभा ने बताया सुशांत ने कहा कि एचपी कंपनी का लैपटाप खरीदना होगा। आधी कीमत पर वह उपलब्ध करा देगा। दो लैपटाप की खरीदने को वह तैयार हो गई। 19 हजार और 26 हजार रुपया भुगतान करने को कहा। कुल 45 हजार रुपया उसके खाते में जमा कर दिया। 9 मार्च को कहा कि आपका जॉब कंफर्म हो गया है। 29 मार्च को उसे ज्वाइनिंग लेटर भी मेल से भेजा। लेटर एचपी की डोमेन से न भेजकर जीमेल के डोमेन से भेजा गया था। इसलिए यह लेटर फर्जी लगा। अधिक पूछताछ करने पर वह टालमटोल करने लगा। ट्रेनिंग के नाम पर 7500 रुपये मांगे तो विश्वास हो गया कि ठगी कर रहा है। रुपया वापस करने की मांग की। कहा वापस कर देगा। कुछ दिन बाद मोबाइल बंद कर दिया। उसे जानकारी हुई कि युवक ने सीएच एरिया बिष्टुपुर की अनुपमा, ममता से भी विशाल कुमार सिन्हा ने रुपये की ठगी की है। उन्हीं से पता चला कि ठगी करने वाला युवक मानगो डिमना रोड में रहता है। फेसबुक पर सर्च करने पर अमरजीत सिन्हा का मोबाइल नंबर मिला। पूछताछ में उसने बताया विशाल सिन्हा रांची जिले के रातू रोड में भी किराये के मकान में रहता है। वहां भी ठगी की।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप