जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : 90 दिन। 12 लाशें। सभी अज्ञात। पुलिस की शिनाख्त करने की कोशिश बेकार। हत्या या आत्महत्या गुत्थी बरकरार। आखिर कब तक पुलिस लाशें गिनती रहेगी और सवालों कब जवाब कब देगी? यह पूरा शहर पूछ रहा है, मरने वाले कौन? अगर हत्या है तो मारने वाला कौन?

लगातार मिल रही लाशों की वजह से पूरा शहर सन्न है। अब चर्चा हो रही है कि ये लाशें हत्या करके डंप की जा रही है या मामला कुछ और है। वहीं पुलिस का कहना है कि इसके बारे में फिलहाल कुछ नहीं कहा जा सकता है।

चार नवंबर को साकची थाना परिसर के खंडरनुमा भवन के बाथरूम में युवक की सड़ी-गली लाश मिली थी। उसकी हत्या कर लाश को वहां डंप कर दिए जाने की संभावना व्यक्त की जा रही है। अब यह गुत्थी सुलझ भी नहीं पाई थी कि साकची थाना से कुछ ही दूर पर गरमनाला में पेड़ में फंदे से लटकती एक युवक की लाश बरामद की गई। यह मामला भी रहस्य बनकर रह गया है।

कब कहां मिली लाश

-18 नवंबर को सिदगोड़ा पुलिस ने स्वर्णरेखा नदी से युवक की सिर विहीन लाश बरामद की

- 2 अगस्त को साकची पुलिस ने स्वर्णरेखा नदी से अज्ञात महिला की सड़ी-गली लाश बरामद की थी

-13 सितंबर को मानगो गौड़ बस्ती नदी तट से युवक का शव बरामद

-14 सितंबर को सोनारी से अज्ञात लाश बरामद

-18 सितंबर को मानगो स्वर्णरेखा नदी से 12 वर्षीय स्कूली बच्चे का शव बरामद

-19 सितंबर को कदमा मरीन ड्राइव से अज्ञात वृद्ध का शव बरामद

-------------------

सीतारामडेरा : स्वर्णरेखा नदी में मिला अज्ञात युवक का शव

जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : सीतारामडेरा थाना अंतर्गत स्वर्णरेखा श्मशान घाट के नीचे स्वर्णरेखा नदी में उतराता हुआ एक युवक का शव नजर आया। देखते ही देखते शव को देखने के लिए भीड़ लग गयी। घटना की जानकारी सीतारामडेरा पुलिस को दी गयी। इसके बाद सीतारामडेरा पुलिस मौके पर पहुंची। शव पूरी तरह से सड़ गल चुका है। युवक जींस पैंट व शर्ट पहना हुआ था। हाथ में एक रिबन था। इसके अलावा शव से कोई सामान या ऐसी वस्तु बरामद नहीं की जा सकी जिससे उसकी पहचान हो सके। फिलहाल पुलिस ने शव को नदी से बाहर निकाल कर पोस्टमार्टम के लिए एमजीएम मेडिकल कॉलेज भेज दिया है। मृतक की पहचान नहीं हो पाई है, जो पुलिस के लिए चुनौती साबित होगी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस