जासं, जमशेदपुर : एमजीएम थाना क्षेत्र के बालीगुमा पुलिया के पास ट्रक की चपेट में आने से बुधवार देर रात 32 वर्षीय राकेश शर्मा की मौत हो गई। वह बालीगुमा से बाइक से मानगो की लौट रहे थे। वह चतरा में एक निजी बैंक में रुपया कलेक्शन करने का काम छह वर्षो से कर रहे थे और सहारा सिटी में उनकी मोबाइल की दुकान है। उनकी मौत की जानकारी पर लोग एमजीएम कॉलेज स्थित पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे। घटना के विरोध और शव रखवाने को लेकर बवाल काटा। पोस्टमार्टम हाउस का गेट तोड़ने का प्रयास किया। यही नहीं भीड़ डिमना चौक पर जुट गई। जब लोगों ने सड़क जाम का प्रयास किया तो पुलिस ने बल प्रयोग कर खदेड़ दिया। इस कारण भगदड़ मच गई। राकेश शर्मा मानगो थाना क्षेत्र के समता नगर में पत्‍‌नी अनिता देवी व तीन पुत्रियों के साथ रहते थे। सहारा सिटी रोड नंबर 15 में उनकी मोबाइल की दुकान है। दुकान की देखरेख पंकज शर्मा करते हैं। उनके माता-पिता उलीडीह ओपी क्षेत्र शंकोसाई रोड नंबर एक में रहते हैं। शव को पुलिस ने पोस्टमार्टम हाउस में रखवा दिया। वह चार भाई हैं। उनके पिता बढ़ई का काम करते हैं। एमजीएम थाना के इंस्पेक्टर अरविंद कुमार ने बताया कि घाटशिला से मानगो डिमना चौक की ओर आ रहे ट्रक की चपेट में आने से युवक की मौत हुई। ट्रक चालक को पुलिस ने पकड़ लिया है। वाहन भी जब्त कर लिया गया है।

----

मंगलवार को बड़ी पुत्री का जन्मदिन मनाया था राकेश ने

मंगलवार को राकेश शर्मा की सात वर्षीय बड़ी पुत्री जानवी का जन्मदिन था। उन्होंने धूमधाम से पुत्री का जन्मदिन मनाया था। परिवार के लोग भी इसमें शामिल हुए थे। मामा सुनिल शर्मा ने बताया कि मंगलवार को ही चतरा से राकेश मानगो आवास आए थे। दो माह पहले राकेश को तीसरी पुत्री हुई थी। बुधवार को वे अपने बड़े भाई मुकेश के बच्चों को समतानगर से शंकोसाई स्थित पैतृक आवास पहुंचाने आए, इसके बाद बालीगुमा चले गए।

---

भाजपा नेता के वाहन पर पथराव

मामा सुनिल शर्मा की सूचना पर भाजपा नेता विकास सिंह डिमना चौक पर पहुंचे। वहां भीड़ में से चार-पांच लोगों ने उनके वाहन पर पथराव कर दिया। वाहन का शीशा टूट गया। यह देख विकास सिंह अपने सहयोगियों के साथ वाहन से उतरे। पथराव कर रहे एक युवक को खदेड़ कर पकड़ लिया। वहीं अन्य भागने में सफल रहे। उसे पकड़कर उलीडीह ओपी पुलिस के हवाले कर दिया। वहां से युवक को मानगो थाना की पुलिस साथ ले गई। विकास सिंह ने थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। उन्होंने इसके पीछे साजिश की आशंका जताई है। युवक की जब दुर्घटना में मौत हुई थी तो उस समय वे आशियाना अनंता में मंत्री सरयू राय, सिटी एसपी प्रभात कुमार समेत अन्य लोगों के साथ थे। बताया जा रहा कि डिमना चौक पर पुलिस द्वारा खदेड़े जाने के बाद भीड़ ने जो ईट-पत्थर चलाए इनमें एक पत्थर भाजपा नेता के वाहन पर जा लगा।

---

सात दिनों में महिला समेत पांच की मौत

16 अक्टूबर को पटमदा में डंपर की चपेट में आने से बाइक सवार दो युवकों की मौत हो गई थी। 14 अक्टूबर को बिरसानगर निवासी 42 वर्षीय अवधेश कुमार सिंह की बिष्टुपुर तलवार बिल्डिंग के पास स्कार्पियो के धक्के से मौत हो गई थी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप