जमशेदपुर, जासं। साकची बाजार में पटमदा-बोड़ाम से हर दिन ग्रामीण सब्जी बेचने वाले पहुंचते हैं, जिनसे यहां हर दिन करीब 50 हजार रुपये की रंगदारी वसूली होती थी। इसकी सूचना मिलने पर विधायक सरयू राय सोमवार की सुबह करीब सात बजे साकची बसंत टाकीज के सामने पहुंचे, तो हंगामा मच गया। वसूली करने वालों को खदेड़ा गया, तो एक पकड़ा गया, जबकि अन्य भाग गए।

इस पर विधायक ने साकची थाना के प्रभारी को फोन कर बताया कि आपके थाने से सटे इलाके में हर दिन रंगदारी वसूली जाती है, आपको पता है कि नहीं। जब विधायक ने थाना प्रभारी से तुरंत पहुंचिए कहा, तो थानेदार भी हड़बड़ा गए। वहां पहुंचे तो विधायक को देख भौंचक रह गए। यह भी देखा कि एक वसूली करने वाले को पकड़ रखा गया तो पुलिस के भी हाथ-पांव फूल गए। विधायक के सवाल पर थानेदार ने कहा कि उनसे आज तक इसकी किसी ने शिकायत नहीं की। विधायक ने कहा कि आपका सूचना तंत्र क्या है? चलिए मुझे शिकायतकर्ता के रूप में दर्ज करके कार्रवाई कीजिए। इसके बाद पुलिस और भारतीय जनतंत्र मोर्चा के पदाधिकारियों ने सब्जी विक्रेताओं से कहा कि किसी को एक रुपया नहीं देना है। कोई पैसा मांगे तो पास में ही भाजमो के कार्यालय में इसकी सूचना दें। सब्जी विक्रेताओं को भाजमो पदाधिकारियों ने फोन नंबर भी दिया।

विधायक ने कहा, पूरे बाजार में राजनीतिक दल के गुर्गे सक्रिय

विधायक सरयू राय ने कहा कि उन्हें लगातार इस बात की शिकायत मिल रही थी कि पूरे साकची बाजार में राजनीतिक दल के गुर्गे हर दुकानदार से प्रतिदिन 50-100 रुपये वसूलते हैं। अफसोस की बात है कि इस पर आज तक पुलिस का ध्यान नहीं गया। किसी राजनीतिक दल के कार्यकर्ताओं ने भी इस माफिया तंत्र पर अंगुली नहीं उठाई। जब उन्हें यह बात मालूम हुई तो उनसे रहा नहीं गया। वह अपने विधानसभा क्षेत्र में किसी तरह का भ्रष्टाचार नहीं हाेने देंगे। गरीब दुकानदार दो पैसा कमाने के लिए इतनी दूर से अपने खेत में उगी सब्जी लेकर बेचने आते हैं।उन्हें धमकाकर रुपये वसूले जाते हैं। बेचारे डर के मारे किसी से शिकायत नहीं करते हैं, इसलिए माफिया तंत्र का मनोबल बढ़ता जाता है। आज के बाद कहीं भी दुकानदारों से वसूली की शिकायत मिली तो भाजमो चुप नहीं बैठेगा।

Edited By: Rakesh Ranjan