जमशेदपुर : शहर में लूटपाट और डकैती को अंजाम देने वाला नया गैंग सक्रिय हो गया है जिसके सदस्य खुद को पुलिस वाला बताकर घर के दरवाजे खुलवा रहे है और दरवाजा खुलते ही घर में घुसकर स्वजनों को बंधक बना आभूषण और नगद की लूटपाट कर निकल जा रहे है। इस गिरोह ने 29 जुलाई की रात बर्मामाइंस रेलवे कैरेज कालोनी निवासी रेलवे कर्मचारी के घर पर धावा बोला।

डकैतों ने पुलिस वाला बताकर दरवाजा खुलाया। घर में घुसते ही अपराधियों ने रेलवे कर्मचारी और उसकी मां के जानकी को बंधक बना लिया। विरोध करने पर उनके साथ मारपीट भी की गई और गोली मारने की भी धमकी दी। फिर इत्मीनान से अपराधियों ने मां-बेटे के मुंह और हाथ में टेप बांध दिया। इसके बाद अलमारी की चाभी लेकर उसमें रखे गहने, चांदी के बर्तन और रुपये निकाल लिए।

एक-दूसरे का नाम पुकार रहे थे अपराधी, इसी से पुलिस के जाल में फंसा

घटना को अंजाम देने वाले आपस में अपना नाम अमित, रफीक, पिल्ले और सोक कहकर पुकार रहे थे। इस मामले में रेलवे कर्मचारी की मां की शिकायत पर अमित, रफीक, पिल्ले और सोक के खिलाफ बर्मामाइंस थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई है। गौरतलब है कि बर्मामाइंस की तरह ही गिरोह ने उसी रात परसुडीह थाना क्षेत्र लोको कालोनी निवासी टी भास्कर राव के घर में घुसकर 25 से 30 तोला सोना और 80 हजार रुपये की लूट को अंजाम दिया था। टी भास्कर राव सूद-ब्याज का भी धंधा करता है।

लूट का सोना खरीदने वाले चार सोनार और लुटेरा गिरोह के दो सदस्य गिरफ्तार

उधर, बर्मामाइंस और परसुडीह में बंधक बना सोना और आभूषण की लूट करने वाले गिरोह के दो सदस्यों को परसुडीह थाना की पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनमें सुंदरनगर गुरुद्वारा रोड निवासी गोलू सिंह और बर्मामाइंस कैरेज कालोनी निवासी बाबू पिल्ले को गिरफ्तार किया है। लूट में इस्तेमाल पिस्टल को भी बरामद किया गया है। दोनों से पूछताछ में मिली जानकारी पर पुलिस ने साकची इलाके के चार सोनार को भी गिरफ्तार किया है जिनके पास लुटेरों ने सोना की बिक्री की थी। सोना खरीदने वाले सोनारों ने सोना को गला दिया था। गला सोना जब्त किए गए हैं। लूट का सोना बेचने की एवज में गिरफ्तार लुटेरों को पांच लाख रुपये मिले थे जिसे पुलिस ने बरामद किए हैं। गिरोह ने पहले बर्मामाइंस में और बाद में परसुडीह के लोको कालोनी में घटना को अंजाम दिया। इसके लिए रेकी कैरेज कालोनी निवासी बाबू पिल्ले ने की।

घटना में फरार लुटेरा रफीक मानगो और सोनू उर्फ सुमित सोनारी निवासी

बाबू पिल्ले और गोलू सिंह से पुलिस को पूछताछ में जानकारी मिली है कि घटना में मानगो का अपराधी रफीक और सोनारी के सोनू उर्फ सुमित सिंह भी शामिल थे। दोनों शातिर अपराधी है। रफीक के खिलाफ कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। दोनों की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस की छापेमारी जारी है।

Edited By: Jitendra Singh