जमशेदपुर (जागरण संवाददाता)। अरका जैन विश्वविद्यालय के अंग्रेजी विभाग की ओर से 'एक्सपेंशन ऑफ लर्निंग होराइजन टू डेवलप सोशिओ-ह्यूमन कैपिटल ड़यूरिंग कोविड-19 लॉकडाउन' विषय पर वेबिनार आयोजित किया।

इसमें मुख्य वक्ता जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज के शिक्षा संकाय के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. सुशील कुमार तिवारी ने देश-विदेश के विभिन्न कॉलेज व विश्वविद्यालयों से जुड़े करीब 200 शिक्षार्थी व प्राध्यापकों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि आइसीटी टूल्स और इंटरनेट कनेक्टिविटी का असली फायदा शिक्षा जगत ने इस कोरोना महामारी के दौरान लॉकडाउन में उठाया है। वेबिनार में अरका जैन विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर डॉ. एसएस र•ाी, निदेशक अमित श्रीवास्तव, निदेशक कैंपस डॉ. अंगद तिवारी, कुलसचिव जसबीर ङ्क्षसह धंजल, हेल्थ साइंस के डीन डॉ. ज्योतिर्मय साहू समेत विश्वविद्यालय के प्राध्यापक और छात्र जुड़े। 

XITE उद्यमियों को परखनी होगी उपभोक्ताओं के खरीदने की आदत : डॉ. वाषर्णेय

नए उद्यमियों को इस बार ध्यान देना चाहिए कि उपभोक्ताओं की खरीदने की आदत कैसे बदल रही है। एक नए उद्यमी  के लिए पांच चीजें महत्वपूर्ण होती है-आइडिया, टीम, टाइमिंग, बिजनेस मॉडल और फंक्‍शन।।

यह बातें एक्सएलआरआइ के मार्केटिंग विभाग के प्रोफेसर डॉ. संजीव वाषर्णेय ने शनिवार को कही। वे एक्सआइटीई कॉलेज में आत्मनिर्भर भारत विषय पर आयोजित वेबिनार को संबोधित कर रहे थे। इस वेबिनार में देश के कई प्रमुख विश्वविद्यालयों के शिक्षकों ने भाग लिया। मेजबानी एक्सआइटीई कॉलेज के पैरेंट इंस्टीट्यूशन एक्सएलआरआइ द्वारा आयोजित किया गया। इसका संचालन कॉलेज के प्राचार्य सह आक्यूएसी सेल के चेयरपर्सन डॉ. फादर फ्रांसिस ने किया। 

Posted By: Vikas Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस