चाईबासा, सुधीर पांडेय।  झारखंड में चाइना क्ले व पत्थर समेत सभी तरह के लघु खनिज की खदानों की नीलामी आने वाले दिनों में जिलास्तर पर ही होगी। इसकी तैयारी खान विभाग कर रहा है। कैबिनेट की मुहर के बाद ही प्रस्ताव मूर्त रूप लेगा।

फिलहाल इन खदानों की राज्य स्तर पर आनलाइन नीलामी होती है। मुख्यालय से नीलामी का टेंडर निकाले जाने की वजह से लोगों को सटीक जानकारी नहीं मिल पाती है। यहां तक की जिला में बैठे खनन पदाधिकारियों को भी यह नहीं पता चलता कि उनके जिले में कहां-कहां लघु खनिज की खदानें नीलामी के लिए तैयार की गयी हैं और उनका टेंडर कब निकला। खदान लेने के इच्छुक लोग जानकारी लेने के लिए जिला खनन कार्यालय आते थे मगर उन्हें सटीक जानकारी नहीं मिल पाती है। इस कारण लोग आवेदन देने में रूचि नहीं दिखाते हैं। खान विभाग के अनुसार राज्य में वर्तमान में 60 से ज्यादा लघु खनिज की खदानों की नीलामी साल भर से आनलाइन माध्यम से निकाली गयी है मगर जानकारी के अभाव में लोग आवेदन नहीं दे रहे। इस कारण खदानों की नीलामी अभी तक नहीं हो पाई है।

 सरकार को भेजा गया प्रस्‍ताव 

लघु खनिज की नीलामी जिलास्तर पर कराने की योजना है। इस संबंध में प्रस्ताव बनाकर सरकार को भेजा गया है। सरकार की मंजूरी के बाद ही यह व्यवस्था लागू हो सकेगी। इससे ज्यादा लोग खदान लीज पर लेने आगे आएंगे।

-संजीव कुमार, जिला खनन पदाधिकारी, चाईबासा।

जिलास्तर पर ई-टेंडर के लिए रांची में कार्यशाला कल

खान एवं भूतत्व विभाग के उपनिदेशक अरुण कुमार ने 29 जनवरी को रांची के ध्रुवा स्थित प्रोजेक्ट भवन के सभागार में झारखंड राज्य अंतर्गत लघु खनिज ब्लाकों की नीलामी इलेक्ट्रानिक माध्यम से जिलास्तर पर करने संबंधित कार्यशाला रखी है। इस कार्यशाला में खान एवं भूतत्व विभाग के निदेशक, सभी अपर निदेशक, सभी जिला खनन पदाधिकारी, सभी सहायक खनन पदाधिकारी व भूतत्वेता को आमंत्रित किया गया है। कार्यशाला में उपनिदेशक अरुण कुमार झारखंड लघु खनिज नियम 2018 एवं झारखंड लघु खनिज नियमावली 2017 के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे। वहीं, मेसर्स केपीएमजी नीलामी प्रक्रिया एवं मेसर्स एमएसटीसी आनलाइन नीलामी के तरीके के बारे में बताएगी।

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस