जासं, जमशेदपुर : झारखंड सरकार में परिवहन विभाग के संयुक्त सचिव बृजेंद्र हेम्ब्रम बुधवार को शहर आए थे। इस दौरान उन्होंने समाहरणालय परिसर स्थित जिला परिवहन विभाग के कार्यालय का निरीक्षण किया। वे काउंटरों पर जाकर ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल), लर्निग लाइसेंस (एलएल) व रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (आरसी) बनाने की प्रक्रिया देख रहे थे।

इसी बीच उन्होंने देखा कि एक व्यक्ति आरसी का दो आवेदन लेकर लाइन में खड़ा है। संयुक्त सचिव ने उससे पूछा कि किसका आवेदन लेकर आए हो? इस पर वह सकपका गया। हेम्ब्रम ने उसे डांटते हुए परिसर से दूर रहने की चेतावनी दी। कहा कि सरकारी काम में दलालों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने जिला परिवहन पदाधिकारी दिनेश रंजन से ऐसे लोगों पर कड़ी कार्रवाई करने को कहा, लेकिन तब तक वह व्यक्ति वहां से निकल चुका था।

इसके बाद संयुक्त सचिव उपायुक्त कार्यालय से निकल जुबिली पार्क के साकची गेट पहुंच गए, जहां ट्रैफिक जांच चल रही थी। हेम्ब्रम ने खुद भी बिना हेलमेट वाले एक-दो बाइक सवारों को पकड़ा, लेकिन चेतावनी देकर जाने दिया। उन्होंने कहा कि सड़क दुर्घटना रोकने के लिए सख्ती से ट्रैफिक जांच की जाएगी। उन्होंने बताया कि झारखंड में सड़क दुर्घटनाओं में जितनी मौत होती है, उसमें 35 फीसद संख्या 25 वर्ष से कम उम्र के युवाओं-किशोरों की होती है। यह चिंताजनक है। उन्होंने ट्रैफिक पुलिस के अलावा सड़क सुरक्षा समिति को भी प्रभावी करने की बात कही, ताकि अधिक से अधिक लोग यातायात नियमों से अवगत हों। इसके बाद वे विभिन्न पेट्रोल पंपों का निरीक्षण करने निकले। संयुक्त सचिव ने बताया कि वे इससे पहले पश्चिमी सिंहभूम का दौरा कर चुके हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस