जमशेदपुर, जासं।  जमशेदपुर पूर्वी विधानसभा क्षेत्र से मुख्यमंत्री रघुवर दास के खिलाफ चुनाव लड़ रहे सरयू राय पर जमीन हड़पने का आरोप लगा है। रांची की एक महिला ने आरोप लगाया है कि सरयू राय ने उनकी जमीन पर कब्जा कर लिया है। यही नहीं वह जब भी इसका विरोध करती है, उसे मारने-पीटने की धमकी दी जाती है। इस संबंध में पूछने पर सरयू राय ने बताया कि उन्होंने किसी महिला से जमीन नहीं खरीदी है। कुछ छिपाया भी नहीं है। इस जमीन का उल्लेख चुनाव आयोग में दर्ज शपथपत्र में भी किया गया है।

सरयू ने बताया कि मैंने यह जमीन सीबीआइ के तत्कालीन डीआइजी राकेश अस्थाना व पत्रकार रहे हरिवंश जी से लिया था। कायदे से महिला को कोई शिकायत है तो इन लोगों के खिलाफ करना चाहिए था। सरयू ने कहा कि वे इस संबंध में विस्तृत जानकारी दे देंगे। इससे पहले उन्होंने कहा कि महिला द्वारा इस तरह के आरोप की जानकारी मिलने से मैं भी हतप्रभ हूं। अचानक यह मामला कहां से आ गया और चुनाव के दौरान किसके कहने पर महिला आरोप लगा रही है, यह जांच का विषय है। यदि उसकी जमीन है, तो उसने पहले क्यों इस तरह की बात क्यों नहीं रखी। बहरहाल, वे पूरी स्थिति स्पष्ट कर देंगे। यदि यह जमीन अवैध होती तो मैं शपथ पत्र में इसका उल्लेख क्यों करता। 

दिल्ली से बुलावे की खबर नहीं

सोशल मीडिया पर गुरुवार को एक खबर तेजी से वायरल हुई कि सरयू राय को दिल्ली से बुलावा आया है। यही नहीं, उसमें यह भी कहा गया कि संघ के कोई बड़े कार्यकर्ता पत्र लेकर रांची आ रहे हैं। इस संबंध में पूछने पर सरयू राय ने कहा कि उन्हें अभी तक कोई पत्र नहीं मिला है, ना उनके पास कोई सूचना पहुंची है। शायद रास्ते में होगा, मिलेगा तभी कुछ बता सकेंगे।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ही मुझे हटा सकते

 सरयू राय को प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा द्वारा छह वर्ष के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिए जाने की खबर से हड़कंप मचा है। इसी क्रम में यह कहा जा रहा है कि सरयू राय तो भाजपा राष्ट्रीय कार्यसमिति के सदस्य हैं। ऐसे में क्या प्रदेश अध्यक्ष उन्हें हटा सकते हैं। सरयू ने कहा कि उन्हें हटाने का अधिकार राष्ट्रीय अध्यक्ष को है। 

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस