जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : बिष्टुपुर थाना क्षेत्र के रामदास भट्ठा गुरुद्वारा के समीप बिंदा सिंह व वासुदेव यादव ने जमीन अतिक्रमण कर झोपड़ी बना रखी थी। इस झोपड़ी के कारण गुरुद्वारा में आने वाली संगत व कीर्तन समागम के दौरान काफी परेशानी होती थी, प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए झोपड़ी तोड़वाया है।

यह बातें रामदास भंट्ठा गुरुद्वारा के प्रधान बलवीर सिंह ने गुरुद्वारा परिसर में बुधवार को संवाददाता सम्मेलन कर कही। उन्होंने कहा कि इस जमीन को अतिक्रमण मुक्त करने के लिए रामदास भंट्ठा गुरुद्वारा के प्रधान बलवीर सिंह ने प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, गृह सचिव उपायुक्त, पटना साहिब व सीजीपीसी को गुरुद्वारा के प्रधान ने खत लिखा था। इस मामले की जांच बिष्टुपुर पुलिस ने भी की थी। जिसके तहत कार्रवाई करते हुए जमशेदपुर अधिसूचित क्षेत्र समिति ने बिंदा सिंह व वासुदेव यादव को नोटिस भेज कर लिखा है कि उनलोगों ने गुरुद्वारा साहिब रामदास भंट्ठा के मुख्य द्वारा के समीप मैदान का अतिक्रमण कर झोपड़ी बना लिया है जिससे गुरुद्वारा आने वाले व कार्यक्रम करने के दौरान संगत को परेशानी होती है। दो अगस्त 2017 को भेजे नोटिस में 15 दिन के अंदर निर्माण बंद कर झोपड़ी तोड़ने का निर्देश दिया था। फिर दूसरी नोटिस 9 सितंबर 2017 को भेजी गई। लेकिन तब भी अतिक्रमण खुद से अतिक्रमणकारियों ने नहीं हटाया तो प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए मंगलवार को अतिक्रमण हटवा दिया। मेरे उपर गलत आरोप लगाया गया : मुखे

सीजीपीसी के प्रधान पद के प्रत्याशी गुरमुख सिंह मुखे ने कहा कि समाज हित व पंथ से जुड़े काम के लिए उन्हें देश के किसी कोने में आधी रात में भी बुलाया जायेगा तो वह वहां जरूर जाएंगे। उन्होंने कहा कि अतिक्रमण प्रशासन ने हटाया है। वे तो सिर्फ गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी व प्रशासन के पक्ष में खड़े थे। उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ धक्का मुक्की व उनके धक्के से किसी का पांव टुटने व महिलाओं के साथ दु‌र्व्यवहार किए जाने की बात विपक्षी कह रहे हैं, जो पूरी तरह से गलत है। उनके खिलाफ एक साजिस रची जा रही है ताकि वह सीजीपीसी के चुनाव में इसका प्रभाव उनपर पड़े। अगर पांव टूटने की बात सही होती तो पुलिस व जिला प्रशासन के अधिकारी भी वहां मौजूद थे, वे इसे कैसे बर्दास्त कर सकते थे। उन्होंने कहा कि झोपड़ी हटने से पहले मंगलवार को बिंदा सिंह व स्थानीय लोगों ने एक समझौता नामा पर हस्ताक्षर भी किया है जिसमें लिखा है कि झोपड़ी को हटा कर इस जमीन का उपयोग गुरुद्वारा हित में किया जाए। इस जमीन पर किसी तरह की पार्किग नहीं होनी चाहिए और किसी व्यक्ति विशेष का कब्जा नहीं होना चाहिए।

संवाददाता सम्मेलन में प्रधान बलवीर सिंह, गुरमुख सिंह मुखे, गुरुशरण सिंह, मिंदरा पाल कौर, बलजीत कौर, चरणजीत कौर, सुरेंद्र कौर, सविंदर कौर, अमृत कौर, हरविंदर कौर, अमरजीत कौर, गुरविंदर सिंह व अन्य लोग उपस्थित थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस