मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : शहर में डेंगू मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इससे निपटने को लेकर स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों की छुंट्टी भी रद कर दी गई है और विशेष अभियान चलाकर लोगों को जागरूक किया जा रहा है। साथ ही एंटी लार्वा का छिड़काव व फागिंग भी की जा रहा है। इसके बावजूद मरीजों की बढ़ती संख्या चिंता का विषय है।

शुक्रवार को 12 नए मरीजों में डेंगू की पुष्टि हुई। वहीं 15 मरीजों का नमूना लेकर महात्मा गांधी मेमोरियल (एमजीएम) मेडिकल कॉलेज के माइक्रोबायोलॉजी विभाग में जांच के लिए भेजा गया है। उनकी रिपोर्ट सोमवार तक आने की उम्मीद है। इन सारे मरीजों का इलाज शहर के विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है। पूर्वी सिंहभूम जिले में अबतक 237 लोगों की जांच हुई है, जिसमें 65 डेंगू के मरीज मिले हैं। इसबार शहरी क्षेत्रों के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों से भी मरीज आ रहे हैं।

----

20 मरीज दूसरे जगहों से लेकर आए डेंगू

पूरे प्रदेश में सबसे अधिक डेंगू का प्रकोप जमशेदपुर में ही देखा जाता है। इसलिए यहां विशेष सावधानी बरतने की जरूरत होती है। जिला मलेरिया पदाधिकारी डॉ. एके लाल ने बताया कि डेंगू रोग की रोकथाम को लेकर विभाग दिन-रात जुटा हुआ है। अब तक के आंकड़े पर गौर किया जाए तो करीब 20 लोग ऐसे हैं जो बेंगलुरु, हैदराबाद, दिल्ली सहित अन्य प्रदेशों से डेंगू लेकर जमशेदपुर पहुंचे हैं।

--

मून सिटी में डेंगू के पांच नए मरीज मिले

डिमना रोड स्थित मून सिटी में डेंगू मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही हैं। अबतक एक दर्जन से अधिक लोग चपेट में आ चुके हैं। शुक्रवार को भी पांच नए मरीज सामने आए। इसमें शेखर सुमन (34), गुंजन सिंह (30), ममता पोद्दार (35), दिलीप मिश्रा (43), रेखा शर्मा (37) शामिल हैं। इससे पूर्व भी सात लोगों में डेंगू की पुष्टि हुई थी। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने वहां जाकर मरीजों की जांच की, एंटी लार्वा का छिड़काव व फागिंग की थी। मून सिटी परिसर के गार्डन में एक गढ्डा खोदकर छोड़ दिया गया है, जिसमें पानी का जमाव हो रहा है। यहां से बड़ी संख्या में डेंगू का लार्वा पाए गए हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप