जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : केंद्र की प्रस्तावित फिक्स टर्म एम्प्लायमेट (निश्चित अवधि के लिए रोजगार) की नीति के खिलाफ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े भारतीय मजदूर संघ (भामस) ने मोर्चा खोल दिया है। गुरुवार को भामस से संबद्ध भारतीय ठेका मजदूर संघ (भाठेमसं) के राष्ट्रीय प्रभारी वीरेंद्र कुमार ने कहा कि केंद्र सरकार जल्द ही देश भर में फिक्स टर्म एम्प्लायमेट (निश्चित अवधि के लिए रोजगार) की नीति लागू करने वाली है। इसके तहत पूंजीपतियों द्वारा ठेकाकर्मियों पर शोषण बढ़ जाएगा। इसलिए संघ ने सरकार से मांग की है कि वे इसके दोष को दूर करें नहीं तो दिसंबर से जनवरी के बीच दिल्ली के जंतर-मंतर पर देशभर के ठेकाकर्मी धरना देंगे।

वे स्थानीय तुलसी भवन में आयोजित भारतीय ठेका मजदूर संघ की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के उद्घाटन सत्र को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार जानबूझ कर ऐसे कानून बना रही है, जिससे ठेकाकर्मियों पर शोषण बढ़ेगा। देश में 93 प्रतिशत में से 80 फीसदी काम ठेका मजदूरों द्वारा किया जा रहा है। पूंजीपति वर्ग स्थायी प्रवृत्ति के काम को बंद कर रही है। लेकिन ठेका मजदूरों को उनका हक भी नहीं दे रही है। इसलिए यदि केंद्र सरकार की नीतियों से ठेकाकर्मियों का अहित होगा तो हम आंदोलन के लिए बाध्य होंगे। काम का लेंगे पूरा दाम : संघ के राष्ट्रीय संगठन मंत्री सुरेंद्र ने नारा दिया कि देश हित में करेंगे काम और काम का लेंगे पूरा दाम। बैठक में उन्होंने संगठन के विस्तार, उसका ध्रुवीकरण व आर्थिक संपन्नता का मंत्र दिया। बैठक के अंतिम दिन केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ रणनीति तैयार होगी। वहीं, राष्ट्रव्यापी हड़ताल का तारीख की भी घोषणा हो सकती है। संपूर्ण राष्ट्रीय कार्यकारिणी की इस बैठक में बिहार, झारखंड, ओडिसा, मणिपुर, हरियाणा, गुजरात, विदर्भ, केरल से भी प्रतिनिधि लौहनगरी पहुंचे हैं।

बैठक में मुख्य रूप से राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष देवेंद्र कुमार कौशिक, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सुधांशु पाणि, झारखंड प्रदेश के महासचिव विंदेश्वरी प्रसाद, गुजरात से जितेंद्र गड़वी, ओडिसा से आलोक कारा, विदर्भ से अशोक दादा भाई, जमशेदपुर से जयनारायण शर्मा, सिंहभूम असंगठित कामगार से अजय शर्मा, आदित्यपुर औद्योगिक मजदूर संघ के अध्यक्ष केश्वर मिश्रा, पूर्वी सिंहभूम के जिला संयोजक कृष्णा सिंह, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष जीएन शर्मा, पश्चिम सिंहभूम के जिला मंत्री लक्ष्मण प्रसाद राय व कोषाध्यक्ष प्रह्लाद मिश्रा सहित अन्य शामिल थे।

--------------------------

आवाज उठाने वालों को नौकरी से बाहर कर देगी कंपनी प्रबंधन : जमशेदपुर के वयोवृद्ध मजदूर नेता जयनारायण शर्मा ने कहा कि केंद्र सरकार ऐसी नीति ला रही है, जिसमें यदि ठेकाकर्मी अपने ऊपर हो रहे शोषण के विरूद्ध आवाज उठाएगा तो प्रबंधन उसे नौकरी से बाहर कर देगा।

----------

क्या है फिक्स टर्म एम्प्लायमेट : यह निश्चित अवधि के लिए दिया जाने वाला रोजगार होगा। इसके तहत नियोजित कर्मचारियों को काम पूरा होने के बाद हटा दिया जाएगा। उन्हें न तो सामाजिक सुरक्षा का लाभ मिलेगा और न ही बोनस, ग्रेच्युटी, पीएफ, ईएसआइसी की सुविधा।

-------------

सीमेंट उद्योग में के मजदूरों को करे स्थायी : बैठक को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय संगठन मंत्री सुरेंद्र ने कहा कि उन्होंने सीमेंट एसोसिएशन से मांग की है कि जो भी ठेकाकर्मी पिछले दस वर्षो से कार्यरत हैं, उन्हें चरणबद्ध तरीके से प्रबंधन स्थायी करे। सीमेंट एसोसिएशन के चेयरमैन एन श्रीनिवासन ने ऐसा करने से इंकार कर दिया। उन्हें धमकी दी गई कि यदि वे ठेकाकर्मियों के मामले को उठाएंगे तो वे भारतीय मजदूर संघ की मान्यता को रद कर देंगे।

----------

भाजपा गलत करेगी तो करेंगे विरोध : राष्ट्रीय महामंत्री

दैनिक जागरण से विशेष बातचीत में राष्ट्रीय महामंत्री बृज बिहारी शर्मा ने कहा कि भारतीय मजदूर संघ (बीएमएस) का मातृ संगठन राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) है। उनका भारतीय जनता पार्टी से कोई सरोकार नहीं है। बीएमएस पूर्ण रूप से गैर राजनीतिक मजदूर यूनियन है, जो राष्ट्र हित, मजदूर हित और औद्योगिक हित पर काम करती है। भाजपा और बीएमएस की विचारधारा भले ही एक हो। सुनियोजित है आर्थिक मंदी

राष्ट्रीय महामंत्री बृज बिहारी शर्मा ने दावा किया कि वर्तमान आर्थिक मंदी पूरी तरह से पूंजीपतियों द्वारा सुनियोजित है। उन्होंने सवाल किया कि आर्थिक मंदी केवल ऑटो इंडस्ट्री में ही क्यों है? अन्य सेक्टर में क्यों नहीं है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप