जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : साइबर क्राइम के मामले सिर्फ इसलिए ज्यादा बढ़ रहे हैं क्योंकि ऐसे अपराधों को लेकर जागरूकता की कमी है। साइबर क्राइम से बचने के लिए लोगों को जागरूक होने की आवश्यकता है। सबसे जरूरी है किसी तरह के बहकावे में आने से खुद को बचाना। बच्चों को अपने कक्षा के बच्चों के साथ दोस्ती करनी चाहिए न कि वर्चुअल दुनिया के लोगो से। सोशल मीडिया और इंटरनेट का लोग दुरुपयोग कर रहे हैं। यह बातें कल्पवृक्ष फाउंडेशन एवम साइबर पीस के संयुक्त तत्वावधान में हिलटॉप स्कूल में साइबर सेफ्टी कार्यशाला में मुख्य अतिथि एसएसपी अनूप विरथरे ने कही।

उन्होंने कहा कि शहर के लोगों के लिए साईबर क्राइम से जुड़ी शिकायतों के लिए साइबर थाना काम कर रहा है। इस दौरान साइबर पीस के नीतिश चंदन ने बच्चों को सोशल मीडिया व इंटरनेट पर तस्वीरों व संवेदनशील जानकारियों को शेयर करने व संभावित खतरों के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि सतर्क रहकर खुद को किसी तरह की ठगी का शिकार होने से बचाया जा सकता है।

साइबर पीस फाउंडेशन के प्रमुख विनीत कुमार ने साइबर फ्रॉड, साइबर बुलिंग, ऑनलाइन गेम्स व मोबाइल एप्स के माध्यम से जानकारियों को इक्कठा कर उसके दुरूपयोग, चाइल्ड पोर्नोग्राफिक कंटेंट इत्यादि जैसी तमाम साइबर खतरों से निपटने को लेकर जागरूक किया। हिल टॉप स्कूल की प्रिंसिपल पुनीता बी चौहान ने कहा कि स्कूल साइबर क्लब के गठन कर लगातार गतिविधियों के माध्यम से इस विषय पर जानकारी दी जाएगी। बच्चों को जागरूक किया जाएगा। कार्यशाला में 150 से ज्यादा बच्चों एवम 100 से ज्यादा अभिभावकों ने भाग लिया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस