जमशेदपुर (जासं)। Jharkhand Election Result 2019 कार्यवाहक मुख्यमंत्री रघुवर दास ने स्पष्ट रूप से कहा कि चुनाव के दौरान भ्रष्टाचारियों ने षड्यंत्र रच मेरे और मेरे परिवार का चरित्र हनन किया, बदनाम किया।

सूर्य मंदिर जैसे पवित्र स्थान को भी बदनाम किया गया। इसका मुख्य कारण पांच साल के दौरान मेरी सरकार में कमीशनखोरी नहीं चली, ट्रांसफर-पोस्टिंग और माइंस में दलाली नहीं चली। इसलिए पूरे राज्य में जो बिचौलिया थे, भ्रष्टाचारी थे, उनका एक ही उद्देश्य था कि किसी तरह रघुवर दास को हराना है।

यहां यह दुष्प्रचार किया गया कि रघुवर दास आ जाएगा, तो बस्ती तोड़ दी जाएगी। इस तरह के दुष्प्रचार के कारण ही भारतीय जनता पार्टी की हार हुई है। वे मंगलवार को कार्यकर्ताओं के साथ हार की समीक्षा के बाद पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे।

रघुवर ने पत्रकारों से कहा कि जनप्रतिनिधि की जो जिम्मेदारी होती है, उसे मैंने पूरी ईमानदारी से निभाई। रही बात षडयंत्र की, तो ऐसी राजनीति ज्यादा दिन नहीं टिकती है। लोगों ने सेंटीमेंट (भावना) में आकर भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ वोट किया। हकीकत है कि यहां के लोग आज भी भाजपा के साथ हैं। कुछ लोगों ने सत्ता को साधन मान लिया है, जबकि भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता सत्ता को राष्ट्र की सेवा का एक मार्ग मानते हैं। हमारी मंजिल राष्ट्र की सेवा करना है। राज्य को आगे ले जाना है। इस चुनाव में दिन-रात मेहनत करने वाले कार्यकर्ता और समर्थन करने वाली क्षेत्र की जनता का मैं आभारी हूं। हारने के बावजूद भारतीय जनता पार्टी सकारात्मक विपक्ष की भूमिका निभाएगी।

रघुवर दास पर भाजपा का भरोसा कायम झारखंड से भेजे जा सकते हैं राज्यसभा

झारखंड विधानसभा चुनाव में अपेक्षा के अनुरूप परिणाम न देने के बावजूद रघुवर दास ने भाजपा के शीर्ष नेतृत्व का भरोसा नहीं खोया है। पार्टी रघुवर को वनवास में भेजने के बजाए उन्हें मुख्य धारा में रखेगी। उन्हें राष्ट्रीय स्तर पर संगठन की जवाबदेही भी सौंपी जा सकती है।

सोमवार को चुनाव परिणाम स्पष्ट होने के बाद भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने खुद रघुवर से फोन पर बात कर उनका हौसला बढ़ाया था। कार्यवाहक मुख्यमंत्री के करीबी सूत्रों की मानें तो उन्हें राज्यसभा चुनाव के माध्यम से उच्च सदन भेजा जा सकता है। झारखंड में अगले वर्ष राज्यसभा की दो सीटों के लिए चुनाव हो रहे हैं। पूर्व की सहयोगी आजसू का साथ मिला तो भाजपा राज्यसभा की एक सीट आसानी से हासिल कर सकती है। राज्यसभा चुनाव मार्च-अप्रैल में होने हैं। रिक्त होने वाली सीटें राजद के प्रेमचंद गुप्ता और परिमल नथवाणी की हैं।

उधर रघुवर ने कहा कि पूर्वी विस क्षेत्र आज भी मेरी प्राथमिकता में है। हमने बस्ती में पेयजल सुविधा दी, अच्छी-अच्छी सड़कें बनाई। यह भी सूचना मिल रही है कि मेरे कार्यकर्ताओं को धमकी मिल रही है। मेरे कार्यकर्ताओं को कोई तकलीफ न हो, इसका ध्यान रखूंगा। किसी कार्यकर्ता को कुछ न हो, इसका ध्यान प्रशासन को रखना है। यदि कुछ हुआ तो भाजपा माकूल जवाब देगी।

रघुवर के बोल

♦रघुवर आएंगे तो तोड़ दी जाएगी बस्ती’ का दुष्प्रचार कर क्षेत्र के लोगों को बरगलाया गया

♦मैंने जन प्रतिनिधि की जिम्मेदारी निभाने का किया पूरा प्रयास

♦हारने के बावजूद भाजपा सकारात्मक विपक्ष की भूमिका निभाएगी

♦षड्यंत्र की राजनीति ज्यादा दिन तक नहीं टिकती, जनता का आभारी हूं

♦मेरे कार्यकर्ताओं को मिल रही धमकी, कुछ हुआ तो भाजपा इसका माकूल जवाब देगी

 

Posted By: Vikas Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस