जमशेदपुर, जासं। Coronavirus Update झारखंड में कोरोना वायरस तेजी से पांव पसार रहा है। अबतक 13 पॉजिटिव मिले हैं और  एक की मौत हो चुकी है। वहीं कोल्हान प्रमंडल में भी संदिग्ध मरीजों की बढ़ती संख्या चिंता करने वाली है। अब, कोरोना की जांच करने वाली रियल टाइम पीसीआरर मशीन ने भी सही ढंग से काम करना बंद कर दिया है।

एक मशीन से जांच होने के कारण लैब में काफी लोड बढ़ गया है। इससे जांच प्रभावित हो रहा है। इसे देखते हुए जिला प्रशासन ने एक दूसरी मशीन मंगाई  है। यह मशीन गुरुवार की शाम तक आने की उम्मीद है। इसके बाद दोनों मशीनों से रोजाना 80 से अधिक जांच करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। फिलहाल महात्मा गांधी मेमोरियल (एमजीएम) मेडिकल कॉलेज के वायरोलॉजी लैब में 50 से अधिक नमूना पेंडिंग पड़ा हुआ है। यहां रोजोना 40 नमूनों की जांच करने का प्रयास किया जाता है। लेकिन, मशीन में तकनीकी खराबी आने की वजह से 20 से 25 जांच ही हो पा रही है। जिसके कारण जांच रिपोर्ट आने में देरी हो रही है। शुरुआती दौर में पूरे झारखंड से यहां नमूमा आता था लेकिन, उसके बाद रांची रिम्स में जांच शुरू होने से धनबाद सहित पूरे कोल्हान से आता है। अबतक यहां करीब 500 नमूनों की जांच हो चुकी है। इसमें कोल्हान का 302 है। इसमें 247 की रिपोर्ट आई है। बाकि 55 जांच प्रक्रिया में है।

पीपीई कीट की भी है कमी

कोरोना से लड़ रहे योध्दाओं के लिए पीपीई ( पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट) आवश्यक है। लेकिन, जमशेदपुर में इसकी कमी है। इसे लेकर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आइएमए) का  प्रतिनिधिमंडल डीसी से मिला था। साथ ही स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता को भी पत्र लिखा था। वहीं जमशेदपुर नर्सिंग होम एसोसिएशन के प्रतिनिधि ने भी स्वास्थ्य मंत्री से पीपीई उपलब्ध कराने की मांग की थी। इधर, प्रशासन योध्दाओं की सुरक्षा को लेकर हरसंभव कोशिश कर रहा है। एमजीएम अस्पताल में चिकित्सकों को सैनिटाइज करने के लिए डिस इंफेक्शन सेंटर बनाया गया है। इसके माध्यम से सभी को सैनिटाइज किया जा रहा है।

 

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस