जमशेदपुर (जागरण संवाददाता)। दिल्ली के मरकज निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के कार्यक्रम के बाद वहां ठहरे लोगों लोगों के कोरोना से ग्रसित निकलने के बाद जमशेदपुर की पुलिस भी अलर्ट पर है।

जमशेदपुर पुलिस ने तबलीगी जमात के कार्यक्रम में दिल्ली गए लोगों की तलाश शुरू कर दी है। एसएसपी अनूप बिरथरे के निर्देश पर आजाद नगर थाना, टेल्को थाना, साकची थाना, मानगो थाना, उलीडीह थाना, बिष्टुपुर थाना और कदमा थानों की पुलिस अपने  इलाके में तबलीगी जमात के लोगों के संपर्क में है। साथ ही इन इलाकों में मुखबिरों को भी अलर्ट कर दिया गया है। मजदूरों से कहा गया है कि वह इस बात का पता लगाएं कि जिले से कितने लोग तबलीगी जमात के कार्यक्रम में गए थे और वहां से लौटकर अभी कहां हैं।

डीसी व एसएसपी ने लोगों से की जानकारी देने की अपील

डीसी रविशंकर शुक्ला और एसएसपी अनूप बिरथरे ने खुद भी लोगों से अपील जारी कर कहा है कि अगर ऐसे लोग निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में गए थे। तो वह खुद आगे आएं और प्रशासन को उनकी जांच करने दें। इससे उनका भी भला होगा। उनके परिवार और समाज का भी भला होगा। एसएसपी का कहना है कि किसी भी कार्यक्रम में जाना गलत नहीं है। लेकिन वहां कोरोना  पॉजिटिव मिलने और लोगों की मौत होने के बाद अब लोगों को प्रशासन का सहयोग करना चाहिए। 

निजामुद्दीन से लौटनेवाले चार लोग क्वॉरंटाइन में

एसएसपी अनूप बिरथरे ने बताया कि पुलिस को मुसाबनी के चार लोगों का पता चला है। ये दिल्ली स्थित निजामुद्दीन के कार्यक्रम में शामिल होने के बाद लौटे थे। इन सभी को मुसाबनी में कांस्टेबल

ट्रेनिंग स्कूल में क्वारंटाइन में रख दिया गया है। इन के ब्लड सैंपल के नमूने लेकर जांच के लिए महात्मा गांधी मेडिकल कॉलेज के वायरोलॉजी जांच केंद्र में भेज दिया गया है। रिपोर्ट आने पर पता चलेगा कि इनमें से कोई कोरोना पॉजिटिव है या नहीं।

पहले ही 11 विदेशी नागरिक मुसाबनी के क्वारंटाइन में

 एसएसपी अनूप बिरथरे ने बताया कि उनके इलाके में पहले ही 11 विदेशी नागरिक जिला प्रशासन को मिले थे। ये तबलीगी जमात के इस्तेमा में शामिल होने आए थे। इन सभी लोगों को पहले ही रडगांव की मस्जिद से लेकर मुसाबनी के क्वॉरेंटाइन में रखा गया है।

एसएसपी ने कहा कि अभी तक इन सभी का कोई आतंकी कनेक्शन नहीं मिला है। और ना ही किसी तरह की कोई साजिश की बात सामने आई है। उन्होंने कहा कि पुलिस बराबर मामले की जांच कर रही है और  हालात पर नजर रखे हुए है।

कपाली में निरस्त हो गया था कार्यक्रम 

सरायकेला खरसावां जिले के कपाली में भी तबलीगी जमात का एक कार्यक्रम होना था। इसमें भी विदेशी नागरिकों समेत तबलीगी जमात के काफी लोग जुटे थे। यह कार्यक्रम लॉकडाउन की वजह से नहीं हुआ था।

Posted By: Vikas Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस