जमशेदपुर,जासं। Coronavirus Lockdown  लॉकडाउन के बीच हमारे अखबार वितरक (कर्मयोगी) कोरोना फाइटर की भूमिका में दिख रहे हैं। यह देश दुनिया की खबरों से अपने पाठकों को अपडेट करा रहे हैं। खासकर पाठकों का लगाव कोरोना वायरस संक्रमण से जुड़े हुए समाचार से हो गया है।

प्रतिदिन पाठक अखबार के माध्यम से यह जानना चाह रहे हैं कि कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने के लिए कोई दवा बनी या नहीं। लॉकडाउन खुलेगा या नहीं। इन सारी बातों की जानकारी लेने के लिए हमारे पाठक तड़के उठकर अखबार का इंतजार करते रहते हैं। ऐसे में प्रत्येक बाधाओं को पार कर हमारे अखबार वितरक विनय डे, कन्हैया, राम कुमार व बापी अखबार के साथ पाठकों के दरवाजे पर दस्तक दे रहे हैं। ऐसे में पाठकों को भी अखबार वितरकों का ख्याल रखना चाहिए और उनके मासिक शुल्क का अग्रिम भुगतान करना चाहिए। वे अपने परिवार की सुविधा के साथ ही अखबार के सेंटर पर रुपये जमाकर प्रतिदिन अखबार उठा सकें। कर्मयोगी सुबह अखबार तो पाठक के घर में डाल रहा है लेकिन मासिक शुल्क लेने के लिए दोबारा उनके घर नहीं जा पा रहा है। ऐसे में पाठक अखबार वितरकों के पेटीएम नंबर, गूगल पे नंबर या उसके खाते में आरटीजीएस द्वारा भुगतान कर सकते हैं। जो वितरकों के लिए सुविधाजनक होगा।

अखबार पूरी तरह सैनिटाइज

आपका अखबार की प्रिटिंग मशीन में काम करने वाले सभी कर्मचारियों को मास्क, दस्ताना पहनाकर व डेली चेकअप कर अखबार को छूने की इजाजत दी जाती है। अखबार की प्रिटिंग मशीन पूरी तरह आटोमेटिक है। मानको का पूरा ध्यान रखा जाता है। इसलिए अखबार पूरी तरह से सुरक्षित है। प्रिटिंग मशीन के साथ साथ अखबारों को भी पूरी तरह से सैनिटाइज किया जा रहा है। इसके अलावा अखबार के वितरण सेंटर पर भी वितरक बंधुओं को सैनिटाइज कर अखबार भेजा जा रहा है।

 

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस