संवाद सूत्र, मुसाबनी : कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए देशभर में चल रहे लॉकडाउन के बीच रोज कमाने-खाने वाले मजदूरों व गरीब तबके को दो जून की रोटी के लाले पड़ गए हैं। इनकी चिता करते हुए राज्य सरकार ने सभी वैसे लोगों की पहचान कर अनाज उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है जिनके पास राशनकार्ड नहीं है। इस आदेश के अनुरूप मुसाबनी प्रखंड के आपूर्ति पदाधिकारी सिद्धेश्वर पासवान ने कार्यालय में डीलरों के साथ बैठक कर परिसर में एक डेस्क स्थापित किया गया है। यहां प्रति दिन सुबह 6 बजे से दोपहर 12 बजे तक दो डीलर बैठेंगे और आने वाले गरीब ग्रामीणों का रजिस्ट्रेशन करेंगे। इसी प्रकार दोपहर 12 बजे से संध्या 6 बजे तक आने वाले जरूरतमंद का नाम पता व आवश्यक जानकारी रजिस्टर में लिखेंगे। जल्द ही उनकी जांच कर सभी को 10 किलो चावल दिया जाएगा। पासवान ने बताया कि जनवितरण विभाग पूरी तरह तैयार है। भूख से किसी को मरने नहीं दिया जाएगा। सरकार द्वारा आगे भी जो दिशानिर्देश प्राप्त होगा पूरी तरह पालन किया जाएगा।

डीसीएलआर ने की तैयारियों की समीक्षा

कोविड-19 से निपटने प्रशासन पूरी मुस्तैदी से तैयारियों में जुटा हुआ है। लॉकडाउन के कारण उत्पन्न हो रही समस्याओं को लेकर भी तैयारियां की जा रही हैं। इसकी समीक्षा करने के लिए शनिवार को भूमि सुधार उप समाहर्ता धालभूम सह नोडल अधिकारी रवींद्र गागराई मुसाबनी पहुंचे। उन्होंने बीडीओ सह सीओ अजय कुमार रजक के साथ कोविड-19 से उत्पन्न समस्या से निपटने को लेकर की जा रही तैयारियों की समीक्षा की। इस दौरान बीडीओ ने बताया कि पूरे प्रखंड में लॉकडाउन का पालन कराने के लिए सख्ती की जा रही है। सोशल डिस्टेंसिंग की आदत डालने के लिए लोगों से कहा जा रहा है। सभी आवश्यक सामग्री की दुकानों को खोलने के साथ-साथ दुकानदारों को दुकान के बाहर गोला बनाकर आने वाले ग्राहकों के बीच दूरी बनाने को कहा गया है। दुकान के बाहर हाथ धोने के लिए पानी व साबुन रखने का भी निर्देश दिया गया हे। सभी धार्मिक स्थलों को बंद करा दिया गया है। स्वास्थ्य सेवा सुचारु रखने के साथ बाहर से आने वालों पर नजर रखी जा रही है। इस दौरान डीसीएलआर ने सभी कर्मचारियों को मास्क, हैंड ग्लबस, सैनिटाइजर उपलब्ध कराया तथा सभी को सुरक्षा के लिए इसका उपयोग करने को कहा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस