जमशेदपुर, जागरण संवाददाता।  हज पर जानेवाले आजमीन हवाई जहाज में अपने साथ खैनी व सिगरेट नहीं ले जा सकेंगे। यही नहीं, सऊदी अरब में भी नशे का प्रयोग नहीं किया जा सकेगा। केंद्रीय हज कमेटी ने इस संबंध में निर्देश जारी कर दिया है। केंद्रीय हज कमेटी ने प्रदेश हज कमेटी को पत्र लिख कर ट्रेनिंग में आजमीन को इस बात की जानकारी देने को कहा है। 

पत्र में कहा गया है कि अगर किसी आजमीन के पास सऊदी अरब में नशा करने वाली चीजें मिलीं तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। इसलिए किसी आजमीन को सिगरेट, खैनी या नशे की चीजें साथ नहीं ले जानी है। इस सूची में वियाग्रा और अल्कोहल को भी रखा गया है। हज कमेटी के अधिकारियों का कहना है कि अगर किसी के पास इस किस्म की प्रतिबंधित चीजें मिलती हैं तो उसके खिलाफ सऊदी अरब के कानून के अनुसार कार्रवाई की जाएगी। सऊदी अरब के कानून के अनुसार धूमपान करने वाली चीजों के साथ पकड़े जाने पर आजमीन को कैद की सजा हो सकती है। 

सभी आजमीन ने जमा की तीसरी किस्त 

जमशेदपुर से 306 आजमीन हज पर जा रहे हैं। इन सभी आजमीन ने हज की अंतिम किस्त जमा कर दी है। आजमीन को हज की ट्रेनिंग दी जा रही है। ट्रेनिंग का दौर सात जुलाई तक चलेगा। सात जुलाई को साकची जामा मस्जिद में आखिरी ट्रेनिंग है। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस