जागरण संवाददाता, जमशेदपुर । खाने में चटनी शामिल करने से गैस, एसिडिटी आदि की समस्याएं कम हो जाती है। चटनी शरीर के लिए कई तरह से लाभदायक होती है। अपनी डाइट में खजूर-टमाटर की चटनी शामिल कर सकते हैं। चटनी स्वाद बढ़ाने के साथ-साथ डाइजेशन को ठीक रखती है। खाने में चटनी शामिल करने से भोजन का स्वाद बढ़ जाता है। अधिकतर लोग खाने में बगैर चटनी खाना पसंद नहीं करते हैं।

खजूर व टमाटर की चटनी में पाए जाते हैं पोषक तत्व

खजूर सेहद के लिए वरदान से कम नहीं है। ये आयरन, मिनरल, कैल्शियम, अमीनी एसिड, फास्फोरस और विटामिंस से भरपूर होता है। इसके अलावा टमाटर में विटामिन सी, लाइकोपीन, विटामिन, पोटैशियम पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। साथ ही इसमें कोलेस्ट्रॉल को कम करने वाले तत्व भी होते हैं। टमाटर की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसको पकाने के बाद भी उसके पोषक तत्व बने रहते हैं।

खजूर-टमाटर की चटनी बनाने की सामग्री

  • एक कप कटा हुआ खजूर
  • एक कप कटा हुआ टमाटर
  • आधा कप इमली का पेस्ट, एक टीसपून लाल मिर्च पाउडर
  • दो टीस्पून सौंप, आधा कप टीस्पून राई, स्वादानुसार गुड़
  • एक टेबलस्पून तेल व जरुरत के अनुसार पानी

    खजूर-टमाटर की चटनी बनाने की विधि

  • मीडियम आंच पर पैन रखकर गर्म करना, फिर इसमें सौंप व राईडालकर मध्यम आंच पर भूनना
  • जब सौंप ओराई की खुशबू आने लगे तो गैस को बंद करना है।
  • अब भुनी सौंप और रााई को ठंडा करके मिक्सर से बारीक पीसना है।
  • इसके बाद बर्तन में गुड़, खजूर, टमाटर, इमली का पेस्ट, लाल मिर्च पाउडर व पिसी हुई सौंप-राई डालकर मिलाना है।
  • फिन पैन में तेज डालकर गैर पर गर्म करना है। इसमें सारी सामग्री का मिश्रण और पानी डालक मध्यम आंच पर पकाना है।
  • इसे पांच मिनट पकाना है जब गुड़ पिघल जाए तो आंच धीमी करना है और चटनी को तीस से चालीस मिनट तक पकाना है।
  • जब खजूर और टमाटर अचछी तरह पक जाएं साथ ही चटनी गाढ़ी हो जाए तो गैस बंद करना है।
  • फिर चटनी को ठंडा करके इस एयर कंटेनर में भर कर फ्रिज में रख देना है, चटनी तैयार हो गई।

Edited By: Rakesh Ranjan