मुसाबनी (पूर्वी सिंहभूम), जेएनएन।  कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन के बीच सामाजिक और शारीरिक दूरी के अनुपालन पर जोर है। ऐसे में पर्व-त्‍योहार  भी सादगी से मनाए जा रहे हैं। गुरुवार को शब-ए-बारात और फ‍िर शुक्रवार को प्रभु यीशु का बलिदान दिवस 'गुड फ्राइडे' पूरे कोल्‍हान में सादगी के साथ मनाया जा रहा है। 

पूर्वी सिंहभूम के घाटशिला अनुमंडल के मुसाबनी के बेथल चर्च, संत बरवारा चर्च, ग्रेस यूनियन चर्च एवं आसपास के चर्चों में सादगी के साथ गुड फ्राइडे मनाया गया। चर्चों में ईसाई समुदाय के लोगों की संख्या बहुत कम थी। विभिन्न चर्च के पादरियों ने सोशल मीडिया के माध्यम से प्रभु यीशु का संदेश लोगों के घर-घर तक पहुंचाया । लॉकडाउन के कारण सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए लोगों ने अपने-अपने घरों में रहकर गुड फ्राइडे का पर्व सादगी के साथ मनाया एवं चर्च के पादरियों का संदेश अपने मोबाइल पर सुना। बेथल होम एवं बेथल चर्च द्वारा भी सादगी के साथ गुड फ्राइडे मनाया गया। फादर लिंगस्टड जोसेफ द्वारा ऑनलाइन ईसाई समुदाय के लोगों को प्रभु का संदेश सुनाया गया। ग्रेस यूनियन चर्च के फादर किरण द्वारा भी ऑनलाइन संबोधन किया गया। इस बार चर्च में कोई कार्यक्रम आयोजित नहीं हुआ। विश्वासीजनों ने  अपने-अपने घरों में ही प्रभु यीशु के दु:खभोग व बलिदान को याद किया।

प्रभु यीशु को याद कर अर्पित किया श्रद्धासुमन

गुड फ्राइडे का पर्व प्रभु यीशु को श्रद्धांजलि देने और उनके बलिदान के याद करते हुए उनको श्रद्धासुमन अर्पित करने का है। इसलिए लोगों ने शुक्रवार के दिन घर से निकले बगैर अपने घर पर ही ईसा मसीह को याद करते हुए उनके लिए प्रार्थना की। प्रभु यीशु को याद करते हुए कैंडल को जलाया गया। इसके साथ ईसा मसीह के लिए ईसाई धर्मावलंबी ने  उपवास रखा। सेहत और सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए घर पर ही पूजा और प्रार्थना की गई। अपने सगे-संबंधी और दोस्तों को फोन कर गुड फ्राइडे के महत्व को लोगों ने बताया।

 

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस