जमशेदपुर, जेएनएन।  Chief Minister Hemant Sore ordered to smooth traffic on Hata Chaibasa road मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन ने हाता-चाईबासा राष्‍ट्रीय राजमार्ग (NH 220) पर पुल जर्जर होने की वजह से भारी वाहनों का परिचालन बंद होने के मामले को संज्ञान में लिया है। उन्‍होंने सरायकेला-खरसावां के उपायुक्‍त को आदेश दिया है कि पुल का निर्माण होने तक डायवर्सन का निर्माण कर यातायात सुचारू कराएं और उन्‍हें सूचित करें।

दरअसल, दैनिक जागरण ने पिछले दिनों 15 दिनों से एनएच 220 पर भारी वाहनों का परिचालन ठप होने की खबर प्रकाशित की थी। इसमें बताया गया था क‍ि राजनगर थाना क्षेत्र के मुरूमडीह का पुराना पुल जर्जर होने की वजह से प्रशासन ने सात फरवरी से भारी वाहनों का परिचालन बंद करा रखा है। परिचालन रोकने के लिए  पुल के दोनों ओर कंक्रीट के बड़े-बड़े पत्‍थर रखे गए हैं। साथ ही पथ निर्माण विभाग पथ प्रमंडल  चाईबासा के कार्यापलक अभियंता की ओर से चेतावनी और एवं सावधानी वाला सांकेतक बोर्ड भी लगा दिया गया है। परंतु 15 दिन से ज्‍यादा वक्‍त बीत जाने के बाद भी न तो डायवर्सन बना और नहीं पुल निर्माण के लिए कोई कार्रवाई हुई। 

बताई गई थी होनेवाली परेशानी

पुलिया के दोनों छोर पर भारी वाहनों का परिचालन रोकने के लिए रखे गए  कंक्रीट के बड़े-बड़े पत्‍थर। 

खबर में इस बात का जिक्र किया गया था कि भारी वाहनों का परिचालन बंद होने की वजह से क्षेत्र में व्‍यापार पर बुरा असर पड़ा है। बड़े व्‍यापारी और ठेकेदारों की माल ढुलाई बंद हो गई है। चाईबासा भाया सरायकेला कांड्रा मार्ग को छोड़कर अधिकांश भारी वाहन इसी मार्ग से लौह अयस्‍क और अन्‍य माल की ढुलाई करते है। इसका असर स्‍थानीय लोगों की रोजी-रोटी पर भी पड़ा है। 

राजेश साहू ने खींचा सीएम का ध्‍यान

इस खबर को राजेश साहू नामक युवक ने ट्वीट कर मुख्‍यमंत्री का ध्‍यान खींचा। उसने लिखा कि मुख्‍यमंत्री जी कृपया कर मामले को संज्ञान में लीजिए करीब एक हजार ग्रामीण भुखमरी के कगार पर हैं। मुख्‍यमंत्री ने बुधवार को ट्वीट कर उपायुक्‍त को निर्देश दिया कि जबतक तक पुलिया का निर्माण न हो तब तक यातायात को सुचारू रूप से चलाने हेतु डायवर्सन का अविलंब निर्माण करा सूचित करें।

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस