रांची, राज्य ब्यूरो। टाटानगर रेलवे स्टेशन से तीन साल की मासूम को अगवा कर दुष्कर्म के बाद हत्या के दोनों आरोपितों के संबंध में अनुसंधान पूरा हो गया है। टाटानगर जीआरपी ने 50 दिनों के भीतर वैज्ञानिक व तकनीकी साक्ष्य के आधार पर दोनों ही आरोपितों पर अनुसंधान पूरा करते हुए इसकी रिपोर्ट रेल पुलिस मुख्यालय को सौंप दी है। अब दो दिनों के भीतर आरोपितों पर चार्जशीट दाखिल कर देगी। 

जिनके खिलाफ सबूत मिले हैं, उनमें रिंक साहू व कैलाश कुमार शामिल हैं। दोनों ही आरोपित जमशेदपुर के घाघीडीह स्थित केंद्रीय कारा में बंद हैं। इनपर पोक्सो एक्ट, सामूहिक दुष्कर्म, अपहरण व हत्या के आरोप में मुकदमा चलेगा। पुलिस अनुसंधान के अनुसार आरोपितों ने 25 जुलाई को बच्ची का स्टेशन से अपहरण कर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया और गला काटकर उसकी हत्या कर दी थी। आरोपितों में से एक रिंकू की मां गिरिडीह मुख्यालय में पुलिसकर्मी है, वहीं कैलाश के पिता संतराम सीआरपीएफ का जवान हैं।

25 जुलाई का मामला

जीआरपी टाटानगर की रिपोर्ट के अनुसार बच्ची का अपहरण जमशेदपुर रेलवे स्टेशन से 25 जुलाई को हुआ था। उसका शव 29 जुलाई को बरामद हुआ था।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस