जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : जमशेदपुर में पहली बार गुरु अर्जुन देव के शहीदी दिवस के 40 दिन पहले से ही पंजाब की तर्ज पर विभिन्न संस्थाओं द्वारा जगह-जगह छबील लगाकर ठंडा शर्बत व चना प्रसाद का वितरण किया जा रहा है। यही नहीं धर्म प्रचार कमेटी व गुरमत प्रचार सेंटर के सदस्य गुरु अर्जुन देव के बारे में छात्रों को शिविर लगाकर बता रहे हैं। उनकी शहादत का इतिहास बता रहे हैं, ताकि इस शहीदी दिवस को श्रद्धा के रूप में सिख कौम जानें। धर्म प्रचार कमेटी के अनुसार गुरु अर्जुन देव के शहीदी दिवस को कुछ लोग ठंडा पानी गुरुपर्व के नाम से कहते हैं, जो गलत है। वैसे लोगों के बीच गुरु अर्जुन देव की शहादत के बारे में बताना जरूरी हो गया है। गुरु अर्जुन देव के शहीदी दिवस पर पहले, एक ही दिन शर्बत व चना प्रसाद का वितरण किया जाता था लेकिन इस वर्ष पहली बार 40 दिन पहले से ही शहर में छबील लगाकर शर्बत व चना प्रसाद का वितरण किया जा रहा है। जमशेदपुर में आठ जून को गुरु अर्जुन देव का शहीदी दिवस मनाया जाना है।

:::::::::::::

छबील लगाने के साथ-साथ गुरु अर्जुन देव की शहादत के बारे में भी लोगों को बताना जरूरी है ताकि लोग इसे ठंडा पानी का गुरुपर्व नहीं, गुरु अर्जुन देव का शहीदी दिवस कहें।

-हरविंदर सिंह, प्रचारक

पहले शहर में एक ही दिन छबील लगाया जाता था लेकिन अब गुरु अर्जुन देव के शहीदी दिवस से 40 दिन पहले से ही विभिन्न संस्थाओं द्वारा शहर में अलग अलग स्थानों पर ठंडा शर्बत व चना प्रसाद का वितरण किया जा रहा है। इसकी शुरुआत मानगो क्षेत्र से हुई है।

-सुखवंत सिंह, धर्म प्रचार कमेटी

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस