जमशेदपुर, जासं। सीबीएसई के सत्र 2022-23 में केवल उन्हीं छात्रों को कक्षा 10वीं व 12वीं की बोर्ड परीक्षा में बैठने की अनुमति दी जाएगी, जिनके नाम रजिस्ट्रेशन की ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से जमा किए जाएंगे। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने बुधवार को घोषणा की है कि 2021-22 सत्र के लिए कक्षा नौ और 10 के छात्रों का रजिस्ट्रेशन 15 दिसंबर से शुरू होगा।

ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन वालों को ही परीक्षा में बैठने की अनुमति

जमशेदपुर के शिक्षक अशोक सिन्हा ने बताया कि बोर्ड द्वारा जारी अधिसूचना में कहा है कि रजिस्ट्रेशन या पंजीकरण की प्रक्रिया 15 दिसंबर से शुरू होगी। इसके लिए लिंक www.cbse.nic.in पर उपलब्ध होगा। इसमें कहा गया है कि 2022-23 में केवल उन्हीं छात्रों को कक्षा 10 व 12 की बोर्ड परीक्षा में बैठने की अनुमति दी जाएगी, जिनके नाम पंजीकरण की ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से जमा किए जाएंगे।

बोर्ड के अनुसार, यह अनिवार्य है कि स्कूल यह सुनिश्चित करें कि प्रायोजित किए जा रहे छात्र उनके स्वयं के नियमित और वास्तविक छात्र हों और किसी भी वास्तविक छात्र का नाम अप्रायोजित न छोड़ा जाए।

अनाधिकृत या स्कूल से असंबद्ध नहीं होने चाहिए छात्र

सीबीएसई ने कहा है कि स्कूलों को यह भी देखने की आवश्यकता है कि छात्र किसी भी अनधिकृत या असंबद्ध स्कूल से नहीं हैं। नियमित रूप से अपने संस्थान में कक्षाओं में शामिल हो रहे हैं। सीबीएसई के अलावा कुछ अन्य स्कूल शिक्षा बोर्डों के साथ पंजीकृत नहीं है। उन्हें यह भी देखना चाहिए कि छात्र कक्षा 9 और 11 में प्रवेश के लिए पात्र हैं और कक्षा 10 और 12 की बोर्ड परीक्षाओं में शामिल हो रहे हैं।

सीबीएसई ने कहा है कि 11वीं कक्षा में प्रवेश के मामले में यह विशेष रूप से सुनिश्चित किया जा सकता है कि छात्र ने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से कक्षा 10 की परीक्षा उत्तीर्ण की है। ऑनलाइन आवदेन जमा करने के लिए आगे बढ़ने से पहले स्कूलों को अपना पंजीकरण कराना भी अनिवार्य है। स्कूलों को संबद्धता संख्या का उपयोग यूजर आईडी के रूप में करना चाहिए, जो उनके पास पहले से उपलब्ध है।

नए स्कूलों को OASIS पोर्टल पर जानकारी दर्ज करनी होगी

सीबीएसई बोर्ड ने कहा कि नए संबद्ध स्कूलों को स्कूल कोड और पासवर्ड प्राप्त करने के लिए सीबीएसई के संबंधित क्षेत्रीय कार्यालय से संपर्क करना चाहिए, अगर उन्हें पहले से पासवर्ड नहीं मिला है। नए स्कूलों को पहले OASIS पोर्टल पर जानकारी दर्ज करनी होगी।

OASIS पर जानकारी बहुत सावधानी से भरी जानी चाहिए, क्योंकि स्कूलों को बाद में घोषित वर्ग या छात्रों की संख्या को बदलने की अनुमति नहीं दी जाएगी। सीबीएसई ने स्कूलों को सही डेटा अपलोड करने की सलाह दी है, क्योंकि इस शैक्षणिक वर्ष से सुधार के लिए कोई विंडो उपलब्ध नहीं कराई जाएगी।

Edited By: Jitendra Singh