जमशेदपुर, जासं। CBI raids in Jamshedpur पंजाब नेशनल बैंक की मानगो व बिष्टुपुर शाखा से फर्जी कागजात के बूते 17 करोड़ रुपये ऋण उठाकर गायब हो जाने के मामले में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआइ), रांची की टीम ने जमशेदपुर के कई ठिकानों पर छापेमारी की। फर्जीवाड़े के सभी आरोपितों का नाम-पता जमशेदपुर का है। बैंक के मुताबिक मुख्य आरोपित जमशेदपुर के मानगो के सुभाष कालोनी का निर्मल कुमार मिश्र है। इस फर्जीवाड़े में एक दर्जन से अधिक लोग सूचीबद्ध हैं।

टीम तीन द‍िनों से शहर में

पंजाब नेशनल बैंक ने 20 मार्च 2018 को सीबीआइ के रांची मुख्यालय में प्राथमिकी दर्ज कराई थी। सीबीआइ टीम मामले की जांच के लिए तीन दिनों से जमशेदपुर में है। टीम ने सबसे पहले पंजाब नेशनल बैंक की मानगो और बिष्टुपुर शाखा का भौतिक सत्यापन किया। इसके बाद छापेमारी शुरू की, लेकिन एक भी आरोपित अपने पते पर नहीं मिला। आशंका जताई जा रही है कि आरोपितों का नाम-पता फर्जी हो सकता है।

शक के दायरे में बैंक अधिकारी भी

इस फर्जीवाड़े को जिस तरह अंजाम दिया गया है, उसमें बैंक के अधिकारी भी फंस सकते हैं। आरोपितों ने एकबार में पूरा पैसा नहीं निकाला है। फर्जी नाम-पता, फर्जी पैन कार्ड और फर्जी परिसंपत्ति का हवाला दिया और बिना भौतिक सत्यापन किए अधिकारी ने इतनी राशि स्वीकृत कर दी।

फर्जीवाड़ा में 11 आरोपित, सरगना मानगो का

1. निर्मल मिश्र, पिता पारसनाथ मिश्र, सुभाष कालोनी, डिमना रोड, मानगो

2. जोगेंद्र अग्रवाल, पिता कैलाश अग्रवाल, 106 मोना रोड, बर्मामाइंस

3. विनीत पांडेय, पिता उमाकांत पांडेय, रोड नंबर-1, दाईगुट्टू, मानगो

4. चंदन अग्रवाल, पिता किशोर अग्रवाल, -9, रामनगर, रोड नंबर-3, कदमा

5. अमरपाल सिंह, पिता बचन सिंह, कालीमाटी रोड, साकची

6. चंदन घोष, पिता जयदेव घोष, 01 पदमा रोड, प्रमथनगर, परसुडीह

7. दीपेश कुमार सेन, पिता केएन सेन, न्यू कालीमाटी रोड, साकची

8. अनीस कुमार सिंह, पिता अर¨वद सिंह, दस नंबर बस्ती, गोलमुरी

9. देवजीत बोस, पिता आशुतोष बोस, मकान नंबर 82, भाटिया बस्ती, कदमा

10. कुलवंत सिंह, पिता स्व. हरि सिंह, गौरीशंकर रोड, जुगसलाई

11. हरजीत सिंह, पिता स्व. महेंदर सिंह, लाइन-1, होल्डिंग-6, मनीफिट टेल्को

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस