चांडिल/ईचागढ़/सरायकेला, जेएनएन।  चांडिल डैम से युवक और 15 वर्षीय नाबालिग का शव बरामद होने के मामले में नया मोड़ आ गया है। मृतक भुवन के पिता यादव चंद्र महतो ने बेटे के बिजनेस पार्टनर समेत दो अन्य पर हत्या करने का आरोप लगाया है।

उन्होंने ईचागढ़ थाने में नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई है। दर्ज प्राथमिकी के मुताबिक चांडिल थाना क्षेत्र के घोड़ानेगी गांव निवासी भुवन 29 जुलाई से लापता था। पांच दिन बाद उसका शव ईचागढ़ थाना अंतर्गत बाबूचामदा के पास चांडिल डैम से नाबालिग के शव के साथ रस्सी में बंधा मिला। पिता का आरोप है कि घोड़ानेगी का बिजनेस पार्टनट मुकुंद महतो, उसी गांव के हेयो महतो तथा ठगड़ी ग्राम के बाबू आई ने साथियों के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया है। पिता के मुताबिक उनके पुत्र ने बताया था कि बिजनेस को लेकर पार्टनर से अनबन चल रही थी। इसलिए उसे पहले से ही हत्या किए जाने की आशंका थी। उसने इस बारे में सब कुछ बताया था।

 पहले जताई गई थी प्रेम प्रसंग में हत्‍या की आशंका

प्रथम दृष्टया प्रेम प्रसंग को लेकर हुई हत्या की आशंका अब मृतक के पिता द्वारा प्राथमिकी दर्ज किए जाने के बाद व्यावसायिक विवाद के रूप में उभर कर सामने आ रही है। सोमवार को दोनों की लाश मिलने के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गई थी। दोनों शव आपस में रस्सियों से बंधे थे। पैरों में भी रस्सियों के सहारे पत्थर बंधा हुआ था। ईचागढ़ पुलिस पूरे मामले की विस्तृत छानबीन कर रही है। सरायकेला सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम किए जाने के बाद दोनों शव परिजनों को सौंप दिए गए हैं। वहीं दूसरी ओर, नाबालिग के गांव में दिनभर तरह-तरह की चर्चाएं होती रही। किसी ने हत्या तो किसी ने ऑनर किलिंग की बात कही।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021