जमशेदपुर, जागरण संवाददाता : पूर्वी सिंहभूम जिले के टाटा-पटमदा मुख्य स़ड़क के धुसरा ग्राम के पास मजदूरों से भरी बस अनियंत्रित होकर पलट गई जिससे मौके पर ही दो मजदूर की मौत हो गई जबकि 25 से अधिक मजदूर घायल हो गए। इनमें 16 मजदूरों को गंभीर चोट आई है। घटना के बाद अफरा-तफरी मच गई। मदद की आवाज सुनकर आस-पास के ग्रामीण मौके पर पहुंचे। बस में फंसे मजदूरों को बाहर निकाला। घायलों को एमजीएम अस्पताल भिजवाया। पिकअप वैन का टायर फटने के कारण वाहन पलट गई। वाहन के चालक और खलासी भाग निकले।

मजदूरोंं को बस से पश्चिम बंगाल के पुरूलिया और बांकुड़ा जिले से पटमदा होते हुए जमशेदपुर के टाटानगर रेलवे स्टेशन पहुंचाया जा रहा था। जहां से सभी को ट्रेन से विशाखापत्तनम मजदूरी करने के लिए जाना था। इधर, जुगसलाई विधानसभा के झामुमो विधायक मंगल कालिंदी, भाजपा नेता मुची राम बाउरी समेत कई लोग घटनास्थल पर पहुंचे। दुर्घटना में मृत दो मजदूर के शव को दूसरे वाहन से पोस्टमार्टम हाउस भिजवाया गया।

विधायक मंगल कालिंदी ने बताया कि वे पटमदा डिग्री कॉलेज में आयोजित बैठक में भाग लेने के लिए जा रहे थे। पटमदा के बामिनी पहुंचे थे। सूचना मिली कि पिकअप वैन पलट गई है। मौके पर पहुंचे। मजदूरों से जानकारी मिली सभी एक कंपनी में काम करने के लिए घर से निकले थे। अधिकांश मजदूर पश्चिम बंगाल के पुरुलिया जिले के बड़ाबाजार थाना क्षेत्र के सिंदी और खातड़ा के रहने वाले है। विधायक ने कहा कि झारखंड सरकार की ओर से घोषित सड़क दुर्घटना में मारे गए लोगों को 1-1 लाख रुपये की मुआवजा राशि दिलाई जाएगी। गौरतलब है इससे पहले पटम्दा और बोड़ाम में मजदूराें से भरी पिकअप वैन पलटने से तीन मजदूरों की मौत हो गई थी। एक दर्जन से अधिक मजदूर घायल हो गए थे।

Edited By: Rakesh Ranjan