चाईबासा (पश्चिमी सिंहभूम), जासं। जादू-टोना बताकर चार युवकों ने मिलकर एक अधेड़ को लकड़ी के बोटा से पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया। हत्या करने के बाद अधेड़ के शव को चारों ने मिलकर उसके घर से कुछ दूरी में ले जाकर झाड़ियों में छिपा दिया। गांव वालों से घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस ने घटनास्थल से शव बरामद करने के साथ ही चारों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है।

मामला पश्चिमी सिंहभूम जिला के सारंडा जंगल में बसे भनगांव का है। यह इलाका किरीबुरू थानाा अंतर्गत आता है। किरीबुरू थाना प्रभारी अशोक कुमार ने बताया कि मृतक की पहचान भनगांव के नायक टोला निवासी 55 वर्षीय बुधराम के रूप में हुई है। बुधराम की हत्या के आरोप में उसी गांव के दुर्गा समद उर्फ लिडू (21 वर्ष), सुकराम समद उर्फ हायबुरू (20 वर्ष), सुखराम चंपिया (26 वर्ष) और जाटा चंपिया उर्फ शुभम उर्फ जुगेश (19 वर्ष) को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस अनुसंधान में यह बात सामने आयी है कि बुधराम चंपिया को गांव के ही दुर्गा समद, सुकराम समद, सुखराम चंपिया व जाटा चंपिया ने दो साल पहले से ही मारने की योजना बनायी थी। आरोपितों का कहना है कि बुधराम को जादू-टोना आता है। वो उनके परिवार के लोगों को मार कर खा जा रहा है। अगर इसको नहीं मारेंगे तो ये बाकी लोगों को भी खा जाएगा।

घर पर ही कर दी हत्या

गुरुवार की शाम में दुर्गा समद अकेले ही बुधराम के घर गया था। वहां कुछ-कुछ बात को लेकर दोनों में कहासुनी हो गई। थोड़ी देर में दोनों आपस में झगड़ने लगे। उसी समय पहले से योजना बनाकर बैठे सुकराम, सुखराम और जाता भी वहां पहुंच गए। इसके बाद चारों ने मिलकर बुधराम के साथ मारपीट शुरू कर दी। इस क्रम में लकड़ी का बोटा से बुधराम को पीटने लगे और बड़ा बोटा से सिर पर वार कर उसकी हत्या कर दी। रात में शव को घर के ही बगल में छोड़कर चारों चले गये। इसके बाद सुबह-सुबह चारों ने घटनास्थल पहुंचकर बुधराम के मृत शरीर को उठाकर घर से कुछ दूर झाड़ी में फेंक दिया। भनगांव में हुए इस हत्याकांड की जानकारी मिलने पर किरीबुरू पुलिस शुक्रवार की सुबह गांव पहुंची और चारों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया। उनकी निशानदेही पर शव भी बरामद कर लिया गया। शाम होने के कारण पोस्टमार्टम के लिए शव को चाईबासा नहीं भेजा जा सका। पुलिस ने बताया कि शनिवार को शव को चाईबासा भेजा जायेगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप