जमशेदपुर,जासं। टाटा मोटर्स के जमशेदपुर प्लांट में शुक्रवार से ब्लॉक - क्लोजर शुरू हो गया। यह क्लोजर सात दिनों तक रहेगा। रविवार को मिलाकर कंपनी लगातार नौ दिन बंद रहेगी। पहले 25, 26 व 28 अक्टूबर को क्लोजर की घोषणा हुई थी, फिर बीते गुरुवार को 29 व 31 अक्टूबर से लेकर लगातार दो नवंबर तक क्लोजर की घोषणा की गई है। 27 अक्टूबर व तीन नवंबर को साप्ताहिक अवकाश रविवार है। वहीं 30 अक्टूबर को कंपनी में वर्किंग डे है इस दिन कंपनी में सामान्य तौर पर कामकाज होगा।

अबतक 38 दिन क्लोजर हुआ

टाटा मोटर्स के जमशेदपुर प्लांट में कंपनी चालू वित्तीय वर्ष में कुल 38 ब्लॉक-क्लोजर ले चुकी है। प्रबंधन व यूनियन के बीच हुए समझौते के मुताबिक एक वित्तीय सत्र में अधिकतम 39 ब्लॉक- क्लोजर लेना है। यह पहले 24 दिन था जिसे समझौते के तहत बढ़ाया गया है। जानकारों का कहना है कि पहली बार ऐसा क्लोजर हुआ है। संभव है क्लोजर के दिन बढ़ाने के लिए एक बार फिर प्रबंधन-यूनियन के बीच समझौता होगा।

इंजन बनाने वाली कंपनी टाटा कमिंस में अब तक 17 बार ब्लॉक-क्लोजर

मध्यम व भारी वाहनों के लिए इंजन बनाने वाली टाटा कमिंस में (25 व 28 अक्टूबर को मिलाकर) अभी तक 17 बार क्लोजर हो चुका है। कंपनी प्रबंधन और यूनियन के बीच 18 दिन ब्लॉक-क्लोजर लेने का समझौता है। 25 साल के इतिहास में अब तक का सबसे बड़ा क्लोजर वर्तमान वित्तीय वर्ष में कंपनी ने लिया है। पिछले वित्तीय वर्ष तक जमशेदपुर प्लांट में 12 दिन अधिकतम ब्लॉक- क्लोजर लिया गया था। इस साल वाहन उद्योग में आयी मंदी कब का व्यापक असर पड़ा है। पहले मंदी का असर दो तीन माह तक ही टाटा कमिंस में प्रभावित रहा है। लेकिन वर्तमान समय में स्थिति अलग है, कब तक बाजार में सुधार होगा इस पर सबकी नजरें लगी है।

2600 इंजन बनाने का लक्ष्‍य

अक्टूबर माह में कमिंस में 2600 इंजन बनाने का लक्ष्य है जबकि औसतन जमशेदपुर प्लांट में चार हजार से ज्यादा इंजन बनता था। विपरीत परिस्थितियों में टाटा कमिंस ब्लॉक-क्लोजर की जगह फ्लेक्सी ऑफ लेती रही है, जिससे कर्मचारियों पर ज्यादा बोझ नहीं पड़ा है। शनिवार को टाटा कमिंस कंपनी में फ्लेक्सी ऑफ रहेगा। कर्मचारियों को आवश्यकतानुसार ड्यूटी पर बुलाया गया है। रविवार 27 अक्टूबर को रविवार होने से कर्मचारियों का साप्ताहिक अवकाश रहेगा तथा 29 अक्टूबर को कंपनी खुलेगी।

चार को खुलेगी स्टील स्टिप्स

गोविंदपुर की स्टील स्टिप्स व्हील्स कंपनी चार नवंबर को खुलेगी। कंपनी फिलहाल बंद है यहां भी ब्लॉक- क्लोजर है। टाटा मोटर्स पर निर्भर रहने वाली इस कंपनी की स्थिति भी दयनीय बनी हुई है। क्लोजर की वजह से ठेका मजदूर सड़कों पर आ गए हैं जबकि स्थायी कर्मियों का पैसा कट रहा है।

 

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस